वाराणसी: भीम आर्मी पार्टी चीफ चंद्रशेखर रावण ने आज संत रविदास मंदिर में टेका मत्था

Somya Sri, Last updated: Sun, 12th Dec 2021, 11:02 AM IST
  • भीम आर्मी पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण आज वाराणसी पहुंचे जहां उन्होंने सिर गोवर्धनपुर स्थित संत रविदास मंदिर का दर्शन कर मत्था टेका. रावण बिना किसी पूर्व सूचना के यहां पहुंचे थे. इस दौरान चंद्रशेखर मंदिर के वीआईपी गेस्ट हाउस में मंदिर ट्रस्ट के लोगों के साथ बैठकर चाय भी. यहां उन्होंने करीब 10 मिनट तक मन्दिर के विस्तार के बारे में चर्चा की.
वाराणसी: भीम आर्मी पार्टी चीफ चंद्रशेखर रावण ने आज संत रविदास मंदिर में टेका मत्था

वाराणसी: भीम आर्मी पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण आज वाराणसी पहुंचे जहां उन्होंने सिर गोवर्धनपुर स्थित संत रविदास मंदिर का दर्शन कर मत्था टेका. चंद्रशेखर बिना किसी पूर्व सूचना के आज संत रविदास मंदिर पहुंचे थे. उनके आगमन होते ही पुलिस और एलआईयू सक्रिय हो गई. इस दौरान चंद्रशेखर मंदिर के वीआईपी गेस्ट हाउस में मंदिर ट्रस्ट के लोगों के साथ बैठकर चाय भी. यहां उन्होंने करीब 10 मिनट तक मंदिर में रहकर मंदिर ट्रस्ट के लोगों से मंदिर के विस्तार के बारे में बातचीत की. इसके बाद वे अपने किसी कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मंदिर से बाहर निकल गए. बता दें कि इस दौरान चंद्रशेखर ने रविदास मन्दिर जाने से पहले चंद्रशेखर नगवा स्थित रविदास पार्क और घाट का भी भ्रमण किया.

बता दें कि हाल ही में भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर आजाद ने समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात से बात की थी. इस मुलाकात के बाद से दोनों पार्टियों में गठबंधन को लेकर चर्चा शुरू हो गई थी. हालांकि यूपी चुनाव को लेकर इससे पहले ही भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेकर समाजवादी पार्टी से गठबंधन के संकेत दे चुके हैं. उन्होंने कहा था कि सपा के साथ समझौता हो सकता है, क्योंकि हम सब बीजेपी को रोकना चाहते हैं. उन्होंने कहा था कि प्रदेश में तानाशाही और निरंकुश सरकार को रोकने की जरूरत है और हम राज्य के लोगों को अच्छी सरकार देना चाहते हैं.

UP में बिजली विभाग के इन कर्मचारियों पर हो सकती बड़ी कार्रवाई, लगे भ्रष्टाचार के आरोप

साथ ही चंद्रशेखर ने कहा था कि वो यूपी चुनाव में सीएम योगी को जीतने नहीं देंगे चाहे कुछ भी हो जाए. इस दौरान गठबंधन को लेकर कहा था कि वो चाहते हैं कि उनकी पार्टी का गठबंधन बहुजन समाज पार्टी के साथ हो, ताकि बहुजन वोट का बंटवारा न हो सके. चंद्रशेखर ने कहा था कि मैं चाहता हूं कि हमारा गठबंधन मायावती की बसपा के साथ हो. हम नहीं चाहते हैं कि बहुजन वोट बंटें. मैं विपक्षी दलों से भी अपील करूंगा कि योगी के खिलाफ मेरा समर्थन करें. मुझे पता है कि मुझे बहन मायावती पसंद नहीं करती है लेकिन बीजेपी के खिलाफ हमें साथ आना होगा.

मंदिर ट्रस्ट के लोगों से मन्दिर के विस्तार के बारे में चर्चा करते चंद्रशेखर आजाद
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें