विरोध के बाद छात्रों की निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा बहाल, BHU वीसी बयान पर बोले…

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 11:53 PM IST
  • वाराणसी के बीएचयू में छात्र संगठनों के विरोध प्रदर्शन के बाद छात्रों के लिए निशुल्क स्वस्थ्य सेवाएं बहाल कर दी हैं. दूसरी ओर यूनिवर्सिटी कुलपति राकेश भटनागर ने अपने मदनमोहन मालवीय पर बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है.
छात्रों के विरोध के बाद वीसी ने अपने बयान पर बड़ी बात कही.

वाराणसी. बीएचयू के कुलपति पर महामना पर टिप्पणी को लेकर वीसी ने कहा कि उनके कथन से किसी को गलतफहमी हुई है. वीसी ने कहा कि काशी विश्वविद्यालय उनकी कर्म भूमि है और इसकी सेवा वह ईमानदारी से कर रहे हैं. वह महामना के लिए पूर्ण निष्ठा और सम्मान रखते हैं. वहीं काशी विश्वविद्यालय कोविड की विषम परिस्थितियों में राष्ट्र की सेवा कर रहा है. वहीं छात्रों के निशुल्क सेवाओं को भी बहाल किया जाएगा.

बीएचयू के कुलपित ने जानकारी देते हुए कहा कि छात्रों के लिए निशुल्क स्वास्थ्य सुविधा को बहाल कर दिया है. ओपीडी रजिस्ट्रेशन को निशुल्क करने से जुड़ी सभी जानकारी जल्द ही वेबसाइट पर अपलोड की जाएंगी. वहीं मेरे कथन से किसी की भावना आहत हुई है तो यह मेरे लिए अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और पीड़ादायक है. 

वाराणसी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में स्टाफ कोरोना पॉजिटिव, अब सोमवार को खुलेगी कचहरी

निशुल्क सुविधाओं के लिए गुरुवार को अलग-अलग स्थानों पर छात्र संगठनों ने प्रदर्शन किया था. वहीं तीन दिन पहले भी विश्वविद्यालय के कार्यालय के बाहर छात्रों ने प्रदर्शन किया था. 

बीएचयू VC की मालवीय पर टिप्पणी पर छात्रों का विरोध प्रदर्शन, इस्तीफे की मांग

कुलपति ने इसपर कहा था कि विश्वविद्यालय आर्थिक समस्याओं से जूझ रहा है. वह डीन के साथ बैठक में इस समस्या का समाधान निकालने का प्रयास करेंगे. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें