वाराणसी: BHU की कोरोनावायरस से लड़ने की तैयारी, बना रहा हर्बल टैबलेट

Smart News Team, Last updated: 18/09/2020 08:51 AM IST
  • आर्टीमिसिया एनुआ पौधे की पत्तियों से BHU के साइंस इंस्टीट्यूट में सेंट्रल डिस्कवरी सेंटर के शोध छात्र कोरोना को निष्क्रिय करने वाली हर्बल टैबलेट बना रहे हैं. 
BHU की कोरोनावायरस से लड़ने की तैयारी, बना रहा हर्बल टैबलेट

वाराणसी. BHU में ऐसा हर्बल टैबलेट बनाने का काम शुरू हो गया है जो कोरोना को निष्क्रिय कर देगा. बीएचयू के साइंस इंस्टीट्यूट में सेंट्रल डिस्कवरी सेंटर के शोध छात्र आर्टीमिसिया पौधे की पत्ती से प्रयोग के तौर पर हर्बल टैबलेट बना रहे हैं. इसके तहत आर्टीमिसिया एनुआ पौधे में पाए जाने वाले यौगिक की मदद से मल्टीयूज टैबलेट बनेगी. यह मलेरिया और हेपेटाइटिस में भी इस्तेमाल की जा सकेंगी. वनस्पति विज्ञान विभाग ने आर्टीमिसिया एनुआ पर शोध किया है. दावा किया जा रहा है कि प्रो. शशि पांडेय के शोध अध्ययन के आधार पर स्टार्टअप से तैयार हर्बल टैबलेट कोरोना वायरस के रोकथाम में मदद करेगा. 

लखनऊ: UP में भी साबरमती की तर्ज पर गंगा रिवर फ्रंट बनाने की तैयारी

इस शोध अध्ययन के दौरान कंप्यूटर सिमुलेशन में पाया गया था कि आर्टीमिसिया कोरोना वायरस को निष्क्रिय करने में मददगार है. 15 साल से प्रो. शशि पांडेय आर्टीमिसिया एनुआ पर आध्ययन कर रही हैं. टैबलेट के बारे में बताया कि आर्टीमिसिया की पत्तियों में मिलने वाले यौगिक से नैनो कण बनते हैं जिससे हर्बल टैबलेट बनाया जा रहा है. काढ़ा से यह ज्यादा कारगर होगा. दरअसल, काढ़ा गर्म करने पर कई यौगिक विघटित हो जाते हैं. इसलिए टैबलेट ज्यादा असरदार है.

अब वाराणसी में मंडुआडीह रेलवे स्टेशन का नाम बदलने की तैयारी, ये होगी नई पहचान

यह हर्बल टैबलेट काम कैसे करेंगी? तो हर्बल टैबलेट दरअसल कोरोना वायरस के जीनोम पर यौगिक मल्टिपल कंपाउंड के रूप में वायरस के अगल-अलग भागों पर वार करेगी. यह वायरस के उस प्रोटिन कवच को लक्ष्य करती है जो शरीर में प्रवेश करता है. इससे वायरस की संख्या बढ़ती नहीं जाएगी. आर्टीमिसिया वायरस के बाहरी कोटिंग पर हमला कर उसे क्षतिग्रस्त कर देगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें