रेप पीड़िता को न्याय की मांग के साथ BHU छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च, बोले- कातिलों को...

MRITYUNJAY CHAUDHARY, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 8:41 PM IST
  • काशी हिन्दू विश्वविद्यालय BHU के छात्रों ने महिला महा विद्यायल से बीएचयू गेट तक कैंडल मार्च निकाला. बिहार के वैशाली जिले में 14 वर्षीय छात्रा का अपहरण करके दुष्कर्म करने के बाद हत्या कर दी गई थी. जिसको लेकर बीएचयू छात्रों ने यह कैंडल मार्च निकाला. साथ ही छात्रों ने कहा कि जिस तरह से छात्रा को तड़पा- तड़पा कर मारा गया, उसी तरह दरिंदों को भी मारा जाना चाहिए.
रेप पीड़िता को न्याय की मांग के साथ BHU छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च, बोले- कातिलों को...

वाराणसी. वाराणसी के बीएचयू के छात्रों ने रविवार को कैंडल मार्च निकाला. बीएचयू छात्रों ने यह कैंडल मार्च वैशाली जिले में हुई 14 साल की मासूम छात्रा का अपरहण कर दुष्कर्म के बाद हत्या के न्याय को की मांग की. इसके साथ ही कैंडल मार्च निकल रहे छात्रों ने यह मांग किया कि जिस तरह से दरन्दिगों ने पीड़िता को तड़पा तड़पा कर मारा था, उसी तरह दरिंगों को भी तड़पा-तड़पा कर मारा जाए

बीएचयू के छात्रों ने यह कैंडल मार्च को बिहार की बेटी को न्याय दिलाने और दुष्कर्मियों के फाँसी की मांग को लेकर किया. इस दौरान उन्होंने सरकार के सामने दुष्कर्म पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग की. साथ ही छात्रों ने इस मामले को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संज्ञान में भी लेने की मांग किया. कैंडल मार्च के दौरान छात्र कुंदन कुमार ने बताया कि जिस तरह छात्र के साथ दरिंदो ने तड़पा तड़पा के दुष्कर्म के बाद छात्रा की जान ले ली ठीक उसी तरह आरोपियों के साथ भी दरिंदगी से फाँसी की सजा दी जानी चाहिए. जिससे ऐसा दोबारा करने से पहले कोई फिर साहस नहीं जुटा सके.

शराब के नशे में हैवान पिता ने बेटे के घोंप दिया त्रिशूल, हालत गंभीर, आरोपी गिरफ्तार

काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा निकली गई कैंडल मार्च महिला महा विद्यायल से बीएचयू गेट तक निकाला गया. इस कैंडल मार्च में छात्र कुंदन कुमार, पतंजलि पांडेय, अभय प्रताप सिंह, अभय कुमार, विकास कुमार, साक्षी सिंह, मोहित सोनी, अनुराग, आयुष, प्रकाश, अमित, आदि शामिल हुए. बता दें की 14 सितंबर को बिहार के वैशाली में 14 वर्षीय छात्रा का अपहरण करके दुष्कर्म किया गया था. दुष्कर्म करने के बाद आरोपियों ने उसकी हत्या कर दी थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें