वाराणसी: BHU सुंदरलाल अस्पताल में 21 दिनों तक इलाज के बाद इकलौते चिराग की मौत

Smart News Team, Last updated: 23/08/2020 11:12 PM IST
  • लोहता थाना क्षेत्र के ककरहिया गांव के गौरी शंकर पटेल के इकलौते बेटे रंजीत की हुई मौत 31 जुलाई को शराब की दुकान पर किसी बात को लेकर हुई थी मारपीट पिता गौरी शंकर पटेल अलाउद्दीन बाजार में कई वर्षों से चला रहे क्लीनिक
प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी। वाराणसी के लोहता थाना क्षेत्र के ककरहिया गांव के रहने वाले डॉक्टर गौरी शंकर पटेल के इकलौते पुत्र रंजीत पटेल की रविवार को इलाज के दौरान मौत हो गई. सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. इकलौते बेटे की मौत पर घर में हाहाकार मच गया लोगों का रो रो कर बुरा हाल था. बता दें कि लोहता थाना क्षेत्र के ककरहिया स्थित एक सरकारी देसी शराब की दुकान पर 31 जुलाई को किसी बात को लेकर रंजीत पटेल व महेंद्र पटेल का कुछ बदमाशों से विवाद हो गया. इस दौरान दोनों को गंभीर चोटे आई जिसके बाद दोनों को इलाज के लिए बीएचयू के ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया. दोनों बुरी तरह घायल थे. शनिवार को इलाज के दौरान रंजीत पटेल की मौत हो गई जिसके बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

रंजीत का शव घर पहुंचते ही मचा कोहराम

पोस्टमार्टम के बाद रविवार को रंजीत का शव उनके पैतृक गांव ककरहिया में पहुंचा. शव पहुंचते ही घर में कोहराम मच गया. रंजीत की दोनों बहनों का रो-रो कर बुरा हाल था. उसकी दोनों बहनें शव से लिपट दहाड़ मारकर रो रही थी. मां रोते-रोते बेहोश हो जा रही थी.

दो बहनों के बीच इकलौता था रंजीत

रंजीत पटेल गौरीशंकर का इकलौता बेटा था. वह तीन भाई बहन थे जिसमें बड़ी बहन अंजना वह छोटी बहन रंजना की शादी हो चुकी थी. रंजीत की अभी शादी नहीं हुई थी. पिता गौरी शंकर पटेल अलाउद्दीन बाजार में विगत कई वर्षों से क्लीनिक चलाते हैं. मां कौशल्या देवी गृहणी है. रंजीत के मौत की जानकारी मिलते ही एसडीएम सदर प्रमोद कुमार पांडेय, सीओ सदर, थानाध्यक्ष विश्व प्रताप सिंह मय फोर्स मृतक के घर पहुंचे.

रंजीत के हत्यारों को फांसी देने की मांग

रंजीत के हत्यारों को फांसी पर चढ़ाए जाने की गांव वालों ने मांग की. इस दौरान शव यात्रा में लोगों ने नारेबाजी भी की. लोगों ने प्रशासन व पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की. स्थानीय लोगों ने आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग की. इस दौरान भाजपा के रामेश्वर, मंडल अध्यक्ष विपिन पांडेय, कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेश्वर पटेल आदि मौजूद रहे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें