बाइक सवार लुटेरों ने छीना पैसों से भरा झोला तो भिड़ गया युवक, बच गए डेढ़ लाख रुपए

Swati Gautam, Last updated: Fri, 10th Dec 2021, 6:12 PM IST
  • युवक बैंक से 3 लाख रुपए से भरा झोला लेकर निकला तो बाइक सवार लुटेरों ने उस पर हमला बोल दिया और पैसों का झोला छीन लिया. युवक बहादुरी दिखाते हुए लुटेरों से भिड़ गया और झड़प में 1 लाख 50 हजार रुपए वहीं गिर गए. बाकी बचे 1 लाख 50 हजार लेकर लुटेरे फरार हो गए. पुलिस मामले की जांच कर रही है.
बाइक सवार लुटेरों ने छीना पैसों से भरा झोला तो भिड़ गया युवक, बच गए डेढ़ लाख रुपए. file photo

वाराणसी. आए दिन सड़कों पर छीना झपटी व चोरी के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं. ऐसी ही घटना लंका थाना क्षेत्र के साकेत नगर में देखने को मिली जहां लेन 2 में शुक्रवार को विनय जयसवाल नामक युवक बैंक से पैसे लेकर निकला ही था की बाइक सवार लुटेरों की उस पर पैनी नजर थी. दो लुटेरे बाइक की तेज रफ्तार में युवक के पास आए और 3 लाख रुपए से भरा झोला छीन लिया. विनय तुरंत ही बहादुरी दिखाते हुए लुटेरों से भिड़ गया. इस झड़प में लुटेरों के हाथ में पैसों से भरे झोले से 1 लाख 50 रुपए गिर गए और बाकी बचे 1 लाख 50 हजार लेकर लुटेरे फरार हो गए. पुलिस ने पीड़ित और उसके मालिक संदीप सिंह की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

जानकारी अनुसार लंका माधव मार्केट रहने वाले रिटायर्ड सीओ आरपी राय के बेटे संदीप सिंह चितईपुर थाना क्षेत्र में एक कान्वेंट स्कूल का संचालन करते हैं. संदीप के साकेत नगर में रहने वाले रिश्तेदार के घर शुक्रवार को जनेऊ संस्कार होना था. तभी संदीप ने अपने कर्मचारी को बैंक से पैसे निकालने के लिए भेजा. कर्मचारी विनय जयसवाल बैंक ऑफ बड़ौदा से तीन लाख रुपये निकालकर झोले में रखकर साकेत नगर लेन दो में पहुंचाने के लिए बैंक से निकला तभी बाइक सवार लुटेरों ने उस पर हमला बोल डाला.

मस्जिद के बाद कांग्रेस कार्यालय को 'गेरुआ' करने पर विवाद, प्रशासन को 36 घंटे का अल्‍टीमेटम

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि लुटेरे अपाची बाइक पर सवार थी और दोनों युवक मुंह बांधकर आये थे. वहीं इंस्पेक्टर वेद प्रकाश राय ने कहा कि घटना के हर पहलुओं की जांच की जाएगी. बैंक से पैसा निकालने के दौरान लुटेरों ने कैसे रेकी की इन सब बिंदुओं की जांच की जाएगी. पुलिस ने घटना स्थल के अगल बगल लगे सीसीटीवी कैमरों का पुलिस ने फुटेज भी खंगाली है. कहा जा रहा है कि घटना के दौरान गश्त कर रहे पुलिसकर्मी लूट की घटना से अंजान थे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें