ऑनलाइन ठगी से बचाने के लिए लोगों को दिया जाए साइबर शिक्षा का ज्ञान: सीएसआई

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Dec 2020, 11:08 AM IST
  • कंप्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया के चैयरमैन प्रो. एके नायक ने ऑनलाइन सुरक्षा को बढ़ावा देने साइबर शिक्षा की पहल की है.प्रो. नायक विद्यापीठ के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बनकर पहुंच थे. 
साइबर सुरक्षा का ज्ञान.

वाराणसी: साइबर अपराधों से बचाने के लिए कंप्यूटर सोसायटी ऑफ इंडिया लोगों को साइबर शिक्षा देने पर विचार कर रहा है. सीएसआई के चैयरमैन प्रो, एके नायक ने कहा कि इससे लोगों की जानकारी बढ़ेगी और साइबर ठगों के चगुल में आने से बच सकेंगे. प्रो. नायक महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ में आयोजित वेबिनार में ये बाते कही. उन्होंने कहा देश के लोगों के साइबर शिक्षा का ज्ञान देना हमारा दात्यिव है.

रविवार को प्रो. नायक विद्यापीठ के पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि बनकर पहुंच थे. कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रुप में मौजूद केंद्रीय विश्वविद्यालय झारखंड के प्रो. एससी यादव ने कहा कि पिछले कुछ सालों में भारत साइबर अपराध में लगभग 63 फीसदी का इजाफा हुआ. दिन-प्रतिदिन हमे देखने को मिलता है कि लोगों के साथ हैकिंग, साइबर आक्रमण और ठगी जैसी वारदात हो जाती है.

वाराणसी : फर्जी आधार कार्ड पर DL बनवाना पड़ेगा भारी, दर्ज होगा केस

तकनीक के इस दौर में लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है. दुनिया जितनी तेजी से विकास कर रही है इतनी ही तेजी से लोगों के साथ अपराध होने के मौके बढ़ते जा रहे है. साइबर सुरक्षा को लेकर हालत इतने खराब है कि ठगी होने के बाद लोगों के पैसे मिलना काफी मुश्किल हो जाता है. कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रो. यादव ने कहा, कि तेजी से ऑनलाइन एप्लिकेशन का विकास हो रहा है. कई बार जानकारी के अभाव में हम ऑनलाइन ऐसी चीजों से जुड़ जाते है. जो हमारी साइबर सुरक्षा को हानि पहुंचाती है.

वाराणसी: चोरों कि बढ़ी हिम्मत, चोलापुर विकासखंड का ताला तोड़ लाखों का सामान उड़ाया

सारनाथ- पुलिस ने छापेमारी कर 7 जुआरियों को पकड़ा, जुआरियों के पास से कैश बरामद

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें