वाराणसी: व्यापारियों और गृहणियों को अपना शिकार बना रहा कोरोना

Smart News Team, Last updated: 18/08/2020 09:56 AM IST
  • कोरोना से सबसे ज्यादा संक्रमित व्यापारी व हाउस वाइफ प्रशासन ने व्यापारियों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के लिए की अपील प्रशासन ने व्यापारियों की छोटी छोटी टोली बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वालों की सूची बनाने का दिया निर्देश 
प्रतीकात्मक तस्वीर 

वाराणसी। वाराणसी में सबसे ज्यादा खतरा व्यापारियों और गृहणियों को है. कोरोना सबसे ज्यादा व्यापारियों और हॉउसवाइफ को अपना शिकार बना रहा है.

आंकड़े के मुताबिक सबसे ज्यादा कोरोना के केस व्यापारियों और गृहणियों में देखने को मिले हैं. आंकड़े के अनुसार कुल संक्रमितों में आधे व्यापारी हैं. कोरोना से मरने वालों में भी 40 प्रतिशत व्यापारी हैं. जिला प्रशासन ने छह अगस्त तक का डाटा जारी किया है. इससे कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं. बड़ी संख्या में हाउस वाइफ भी संक्रमित हुई हैं. माना जा रहा है कि घर के बाहर निकलने वाले परिवार के अन्य सदस्यों के कारण घर में ही रहने वाली महिलाएं संक्रमित हुई हैं.

अब तक व्यापारी और उनके संपर्क के 2460 लोग संक्रमित हुए हैं जबकि 47 की मौत हो गई है. वहीं 372 हाउस वाइफ संक्रमित हुई है और 22 की मौत हो गयी है. प्रशासन का मानना है कि व्यापारियों के बड़ी संख्या में संक्रमित होने का कारण दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना होना और मास्क ना लगाना बड़ी वजह है.

लंका, कैंट, सिगरा, मंडुवाडीह, भेलूपुर थाना क्षेत्रों से सबसे ज़्यादा केस बढ़े हैं.

ऐसे में जिला प्रशासन ने व्यापार मंडलों से विशेष अनुरोध किया है कि सभी दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जाए. पालन के लिए मार्केट में छोटी-छोटी कमेटी बनाएं जो पालन ना करें उनकी दुकान बंद करवाएं.

जिन्हें ब्लड प्रेशर, शुगर की समस्या हो अथवा पूर्व में हार्ट, किडनी, फेफड़े या कैंसर आदि की बीमारी रही हो वे प्रशासन द्वारा जारी प्रारूप में डिटेल फीड करवा दें.

प्रशासन ने लंका, भेलूपुर, कैंट, सिगरा थाना क्षेत्र के व्यापारियों से एंटीजन टेस्ट कराने की अपील की. पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर ट्रीटमेंट कराने का निर्देश दिया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें