वाराणसी: पुरानी रंजिश में घर बुलाकर भतीजे ने चाचा को गोली मारी, हुई मौत

Smart News Team, Last updated: 21/11/2020 04:43 PM IST
  • वाराणसी के लीलापुर मस्जिद के पास एक भतीजे ने अपने चाचा को अपने घर बुलाया और सर में गोली मारकर हत्या कर दी. सुचना पाकर घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. पुलिस ने पुरे मामले के बारे में बताया कि यह हत्या आपसी रंजिश और जमीन विवाद के चलते हुई है.
रिश्तेदार द्वारा गोली मारने पर हुई हत्या के बाद पुलिस मौके पर पहुंच कार्रवाई करती हुई.

वाराणसी में आपसी रंजिश के चलते एक भतीजा ने अपने चाचा को गोली मारकर हत्या कर दी ना जो घटना लालपुर पांडेपुर थाना के अंतर्गत लालपुर मस्जिद के पास हुआ. जानकारी के अनुसार भतीजे और चाचा के बीच पुरानी रंजिश चल रही थी. जिसके चलते भतीजे ने अपने चाचा को घर पर बुलाया उसके सिर में गोली मारकर हत्या कर दी. गोली मारकर भतीजा वहां से फरार हो गया इस घटना की सूचना पुलिस को मृतक के रिश्तेदारों ने दिया सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया.

घटनास्थल पर पहुची पुलिस ने मृतक के घरवालों से पूछताछ करने के बाद इस घटना के बारे में बताया कि 45 वर्षी मृतक शाहिद इकबाल उर्फ मुन्ना को उसके भतीजे ने गोली मारकर हत्या कर दी. मृतक मुन्ना एक ट्रांसपोर्ट व्यवसायी था. साथ ही उन्होंने ने आरोपी भतीजे कान नाम फरीद उर्फ जुगनू बताया। मौजूद पुलिस ने आगे बताया कि मृतक के पिता दो भाई थे. जिसमे से दूसरे भी मजीद की हत्या करीब 25 साल पहले हुई थी. मुश्ताक के खलु की बेटी की शादी एक दिन पहले हुई थी घर मे अभी भी कुछ मेहमान रुके हुए थे.

वाराणसी: लोन देने के नाम पर करोड़ों की ठगी, एडवांस में लिया ब्याज

मृतक इकबाल अपने परिवार के साथ मुश्ताक के घर पहुँच था. घर के पिछले हिस्से में मृतक इकबाल, मुश्ताक के साथ अन्य मेहमान बैठकर नाश्ता कर रहे थे उसी समय भतीजा फरीद वहां पर पहुंचा. जब सभी आए हुए मेहमानों को विदा करने के लिए उठे और साथ चलने लगे. इसी बीच भतीजे फरीद ने इकबाल के सर पर बन्दूक सटाकर गोली मार दी. गोली लगने से इकबाल की मौके पर ही मौत हो गई. जिसके बाद आरोपी फरीद ने मकान के पिछले हिस्से से होता हुआ वहां से फरार हो गया.

पुलिस ने मृतक इकबाल के बारे में बताते हु कहा कि करीब 25 साल पहले मृतक मुन्ना ने जमीन विवाद में पिता के दूसरे भाई मजीद की हत्या कर दी थी. जिसके लिए उसे उक्त प्रकरण में सजा भी हुई थी. हालांकि जब वह जेल से सजा काटकर बाहर आया तो सभी परिवार में रिश्ते सामान्य हो गए थे.

सेवा विस्तार कर ग्राहकों के लिए हाईटेक बन रहा डाक विभाग

पुलिस ने इस घटना से सम्बंधित दो लोगो को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है. लेकिन अभी तक आरोपी भतीजा फरीद पुलिस के गिरफ्त में नही आ पाया है. एसएसपी ने बताया कि पुलिस पुराने और अभी हुए घटना की जानकारी लेकर जांच शुरू कर दी है. फरीद को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने के लिए जगह जगह दबिश दे रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें