वाराणसी: रामनगर में विवाहिता की संदिग्ध हालत में मौत, पति पर हत्या का आरोप

Smart News Team, Last updated: 22/08/2020 10:09 PM IST
  • विवाहिता के परिवार वालों ने पति पर हत्या का आरोप लगाया है. जून महीनें में विवाहिता की बेटी की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी.
वाराणसी के रामनगर में एक विवाहिता का शव फंदे से लटकता हुआ मिला.

वाराणसी. शुक्रवार को वाराणसी के रामनगर थाना क्षेत्र में संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत हो गई है. विवाहिता मोनी चौरसिया का शव वार्ड संख्या 15 मच्छरहट्टा वार्ड स्थित घर पर संदिग्ध हालात में मिला है. पुलिस ने फिलहाल पति को गिरफ्तार कर लिया है. विवाहिता के घर वालों ने पति पर ही हत्या का आरोप लगाया है. फिलहाल पुलिस ने फंदे से लटक रहे शव को उतारकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. 

वाराणसी गोरख यादव मर्डर: अंतिम संस्कार पूरा, तनाव के मद्देनजर पुलिस, PAC तैनात

परिजनों ने बताया कि मोनी के शव को जब फंदे से उतारा गया तो उसके चेहरे पर चोट के निशान थे. इसी आधार परिजनों ने मोनी के पति पर हत्या का आरोप लगाया है. उधर मोनी के पति गौतम चौरसिया का कहना है कि दोपहर 2 बजे वह किसी काम से घर के बाहर गया हुआ था. जब वह वापस आया तो मोनी दरवाजे के ऊपर बने लिंटर से गमछों के सहारे लटकती मिली. इसके बाद मोनी के मौत की सूचना उसके घरवालों को दी. 

वाराणसी: तीज पर सुहाग का मर्डर, पत्नी बोलीं- गोरख यादव को जाने से मना किया था

घटना की सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर छानबीन शुरू कर दिया है. रामनगर प्रभारी निरीक्षक नरेश कुमार सिंह ने बताया कि घटनास्थल देखने के बाद मामला संदिग्ध लग रहा है. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने तक गौतम को कस्टडी में रखा गया है.

वाराणसी: गाड़ी पार्किंग विवाद में हिस्ट्रीशीटर गोरख यादव की हत्या, आरोपी अरेस्ट

जानकारी के मुताबिक, मडुआडीह के तुलसीपुर निवासी मोनी चौरसिया की शादी साल 2014 में गौतम के साथ हुई थी. शादी के बाद से ही दोनों में अक्सर मारपीट होती रहती थी. कई बार दोनों परिवारों के बीच इस बात को लेकर पंचायत भी हुई थी. पति से नाराज होकर मोनी चौरसिया कई बार अपने घर मडुआडीह भी चली जाती थी. मोनी के परिजनों के अनुसार गौतम अपनी पत्नी को मायके ना रखने का दबाव बना रहा था. पिछले महीने भी दोनों में मारपीट हुई थी, जिसमें पड़ोसियों व रिश्तेदारों के हस्तक्षेप से मामला सुलझा था. वहीं, दो महीने पहले मोनी की बेटी की भी संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. इस मामलें में पति गौतम का कहना था कि वह घर से बाहर गया हुआ था तब बेटी सो रही थी और वापस आया तो उसकी मृत्यु हो गयी थी.

वाराणसी में एक ही परिवार के 13 लोग कोरोना से संक्रमित, कोरोना का कहर जारी

गौतम मूल रूप से महराजगंज जौनपुर का रहने वाला है. वह यहां अपने भाई किशोर के साथ रविन्द्रपुरी कॉलोनी में चाय पान की दुकान लगाता था. 10 साल पहले उसने यहां मकान खरीदा. फिलहाल उसकी मकान निर्माणाधीन थी जिसकी वजह से पत्नी मोनी के साथ बीते 2 महीने से किराए के मकान में रहता था. वहीं, मोनी के पिता दिनेश कुमार व माता उषा देवी की पहले ही मृत्यु हो चुकी है. मोनी के चाचा पारसनाथ व राजकुमार ने मोनी की शादी का खर्च उठाया था. अब मोनी के चाचा राजकुमार ने थाने पर तहरीर देकर गौतम के ऊपर हत्या का आरोप लगाया है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें