वाराणसी: डोम राजा के मौसरे भाई का निधन, जगदीश चौधरी के परिवार में दो दिन में दूस

Smart News Team, Last updated: 27/08/2020 05:31 PM IST
  • वाराणसी के डोम राजा चौधरी के मौसेरे भाई हंसराज चौधरी का निधन हो गया है. इसी मंगलवार डोम राजा जगदीश चौधरी की मृत्यु हुई थी. हंसराज के बेटे ने मुखाग्नि दी.
डोमराज के मौसेरे भाई हंसराज चौधरी को अंतिम संस्कार के लिए मणिकर्णिका घाट ले जाते परिजन.

वाराणसी : काशी के डोम राजा परिवार में पिछले 48 घंटे के अंदर दूसरी मौत हो गई है.बीते मंगलवार को डोमराजा जगदीश चौधरी के निधन के बाद कल यानी बुधवार आधी रात उनके मौसेरे भाई हंसराज चौधरी का निधन हो गया.

जानकारी के मुताबिक डोम राजा परिवार से संबंधित हंसराज चौधरी नगर निगम में बोटमैन के पद पर कार्यरत थे.वह अगले वर्ष व सेवानिवृत्त होने वाले थे. हंस राज ने मीर घाट स्थित अपने पैतृक आवास पर बुधवार की को देर रात डेढ़ बजे अंतिम सांस ली. उनके निधन की सूचना जैसे ही लोगों के बीच आई.शहर के अलग-अलग हिस्सों में रहने वाले चौधरी परिवार के रिश्तेदारों और शुभचिंतकों की भीड़ लग गई.

चौधरी परिवार के ज्यादातर रिश्तेदार रामनगर से रामेश्वर के बीच के इलाकों से आए. वहीं कुछ ऐसे रिश्तेदार भी थे जिन्हें मनमंदिर से मीर घाट के बीच चंद कदमों की दूरी ही तय करनी पड़ी.आपको बता दें कि यह वह करीबी रिश्तेदार हैं जो इस मंगलवार को राजा जगदीश चौधरी के निधन पर शोक व्यक्त करने उनके घर आकर ठहरे हुए हैं.

डोम राजा जगदीश चौधरी के मौसेरे भाई हंसराज चौधरी की शव यात्रा दोपहर करीब 12:30 बजे मीर घाट स्थित उनके आवास से उठी. दशाश्वमेध, गोदोलिया, बांसफाटक होते हुए मणिकर्णिका घाट पहुंची और वहीं उनका अंतिम संस्कार किया गया. हंसराज के बड़े बेटे ने उन्हें मुखाग्नि दी. वह अपने पीछे दो बेटों और दो बेटियों का भरापुरा परिवार छोड़ गए हैं. हंसराज चौधरी की अंतिम यात्रा में काफी संख्या में लोग शामिल हुए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें