वाराणसी गोरख यादव मर्डर: 5 दिन पहले बिहारी कहने से शुरू झगड़े में तीज पर हत्या

Smart News Team, Last updated: 22/08/2020 04:45 PM IST
  • वाराणसी के लंका थाना क्षेत्र में पार्किंग विवाद में हिस्ट्रीशीटर अनिल यादव उर्फ गोरख यादव की हत्या का बीज पांच दिन पहले पड़ा था जब मर्डर के आरोपी रोशन द्विवेदी का गोरख से झगड़ा हुआ था और तब गोरख ने उसे बिहारी कहते हुए धमकी दी थी कि वापस बिहार ही भेज देंगे.
वाराणसी के मारुति नगर में गोरख यादव मर्डर केस के आरोपी रोशन द्विवेदी के घर के बाहर गश्त लगाती पुलिस और मकान के बाहर लगा पुलिस का वज्र वाहन.

वाराणसी. वाराणसी के लंका थाना क्षेत्र में शुक्रवार शाम हिस्ट्रीशीटर अनिल यादव उर्फ गोरख यादव की हत्या का बीज पांच दिन पहले मर्डर के आरोपी रोशन द्विवेदी को बिहारी कहने और वापस बिहार भेज देने से पड़ा था. शुक्रवार को तीज का व्रत रखी पत्नी के पूजा के बाद जाने की जिद को इग्नोर करके मोमो खाने निकले गोरख यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

गोरख यादव को जिस दुकान पर गोली मारी गई, बताया जाता है कि उसी दुकान पर चार-पांच दिन पहले गोरख की रोशन से झड़प हुई थी. गोरख यादव ने उस दिन रोशन और उसके साथियों की पिटाई कर दी थी और ये भी कहा था कि वापस बिहार भेज देंगे. माना जाता है कि रोशन ने बिहारी कहने और वापस बिहार भेजने की बात को दिल पर ले लिया. इलाके के लोग बता रहे हैं कि रोशन तब से लगातार गोरख की तलाश में घूमता रहता था और वो मौका कल शाम उसे मिल गया जब उसने रोशन पर गोली चला दी.

वाराणसी: तीज पर सुहाग का मर्डर, पत्नी बोलीं- गोरख यादव को जाने से मना किया था

गायत्री नगर के गोरख यादव की हत्या के आरोप में गिरफ्तार हुआ मारुति नगर के रोशन द्विवेदी का घर गोरख के घर से लगभग 700 मीटर दूर है. गोरख की रात में मौत के बाद उसके समर्थक भड़क गए और रोशन के घर पर हमला करने जा रहे थे जिसे पुलिस ने लोगों को समझा-बुझाकर रोक लिया.

वाराणसी गोरख यादव मर्डर LIVE: पोस्टमार्टम के बाद शव घर पहुंचा, पुलिस तैनात

पुलिस ने गोरख मर्डर केस में रोशन समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. सबको कोर्ट में पेश करने की तैयारी चल रही है. पुलिस रिमांड मांगेगी या सारे जेल भेजे जाएंगे ये अभी साफ नहीं है. पुलिस को हत्या में इस्तेमाल पिस्तौल मिली है या नहीं, ये अभी साफ नहीं है जिस पर आरोपी को रिमांड में लेने की गुंजाइश भी बन सकती है.

वाराणसी: गाड़ी पार्किंग विवाद में हिस्ट्रीशीटर गोरख यादव की हत्या, आरोपी अरेस्ट

पोस्टमार्टम के बाद शनिवार की दोपहर बाद गोरख यादव का शव उसके पहुंच गया है जहां लोगों की भारी भीड़ जमा है. सुबह में पोस्टमार्टम हाउस से लेकर गोरख के घर तक समाजवादी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का जमवाड़ा लगा हुआ है. आरोपी सुनील द्विवेदी का भाई सोनू द्विवेदी एक ब्लॉक के प्रधान संघ का अध्यक्ष है और बीजेपी का नेता बताया जाता है. हत्या का ये मामला इस वजह से राजनीतिक रंग भी लेता दिख रहा है.

UP बीजेपी में लखनऊ, कानपुर और वाराणसी का जलवा, 4-4 नेता हैं प्रदेश पदाधिकारी

सुबह से ही मारुति नगर में रोशन के घर के बाहर पुलिस की भारी तैनाती है. यहां तक कि उसके घर के बाहर पुलिस का वज्र वाहन भी लगाया गया है जिससे हालात बिगड़ने या माहौल खराब होने पर आंसू गैस के गोले दागकर भीड़ को काबू किया जा सके. फिलहाल इलाके में तनाव है लेकिन पुलिस नियंत्रण में होने का दावा कर रही है.

गोरख यादव के घर पर जुटी भीड़
गोरख यादव के घर मातम मना रही औरतें
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें