इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग सेवा उपलब्ध

Smart News Team, Last updated: 08/10/2020 08:31 PM IST
  • कोरोना महामारी के दौरान आर्थिक मुसीबतों से जूझ रहे लोगों के समक्ष रहनुमा बनकर उभरा भारतीय डाक विभाग इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से वाराणसी के ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग सेवा उपलब्ध करा रही है.
इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग सेवा डाक विभाग की शाखा  वाराणसी में उपलब्ध 

वाराणसी| लॉकडाउन में जहाँ करोड़ों लोग बैंक आदि के पूरी तरह बंद होने के कारण आर्थिक रूप से उजड़ चुके थे, उस दौरान वाराणसी की भारतीय डाक विभाग की शाखा ने अपनी कार्यशैली को परिवर्तित कर ग्राहकों को उनके घर तक भुगतान राशि मुहैया कराने की जो मुहिम शुरू की थी, अनलॉक पांच के दौर में भी आज भी उतनी ही तेज गति से जा रही है.

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक के माध्यम से ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग सेवा तो डाक विभाग की शाखा वाराणसी उपलब्ध करा ही रही है साथ ही शाखा से अधिक से अधिक ग्राहकों को जोड़ने के लिए अब इंडियन पोस्ट ऑफिस ने कागज विहीन कार्य को प्राथमिकता देते हुए नया खाता खोलने के महा अभियान की शुरुआत कर दी है. गुरुवार से शुरू हुए इस महा अभियान के दौरान डाक विभाग से जुड़ने वाले लोगों का उनके आधार कार्ड और मोबाइल नंबर आदि के दस्तावेजों के आधार पर मिनटों में ही उनका डिजिटल खाता खोलेगा.

लाइट एंड साउंड सिस्टम में सदी के महानायक की आवाज की होगी धमक

बताते चलें कि कोरोना महामारी के कारण गत 24 मार्च 2020 से देशभर में लागू किया गया संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान भारतीय डाक शाखा वाराणसी में जिले भर के तकरीबन 15000 से अधिक अपने ग्राहकों को उनकी घर के चौखट तक 2.7 करोड़ रुपए की धन राशि का भुगतान किया है. यही नहीं लॉकडाउन के दौरान शाखा ने आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (ए इ पी एस) के तहत देश भर की बैंकों से प्राप्त धनराशि का माइक्रो एटीएम के माध्यम से भी अपने ग्राहकों की धन राशि का भुगतान किया है.

इस संबंध में वाराणसी परिक्षेत्र के जनरल पोस्ट मास्टर कृष्ण कुमार यादव बताते हैं कि भारतीय डाक विभाग मुसीबत के समय अपने ग्राहकों के साथ सदैव खड़ा हुआ है. पेपरलेस डिजिटल खाता खोलने के महा अभियान की शुरुआत इसी सेवा भावना की कड़ी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें