वाराणसी: रेप केस के आरोपी इंस्पेक्टर ने SSP आवास पर पहुंच कर दी आत्मदाह की धमकी

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 06:58 AM IST
  • रेप केस में आरोपी इंस्पेक्टर अमित कुमार ने शुक्रवार की देर रात वाराणसी के एसएसपी आवास पर पहुंच कर आत्मदाह की धमकी दी. 
वाराणसी: रेप केस के आरोपी इंस्पेक्टर ने SSP आवास पर पहुंच कर दी आत्मदाह की धमकी

वाराणसी. रेप केस में आरोपी इंस्पेक्टर अमित कुमार ने शुक्रवार की देर रात एसएसपी आवास पर पहुंच कर आत्मदाह की धमकी दी. उसने पेट्रोल डालकर पूरी पैंट भिगो ली थी, उसके हाथ में लाइटर था. वह आत्मदाह करने की धमकी दे रहा था. रात में करीब 11 बजे नशे में धुत इंस्पेक्टर को पुलिसकर्मियों ने रोका तो उसने उन लोगों के साथ गाली-गलौज करने लगा. घटना की जानकारी होते ही कैंट पुलिस पहुंच गई और किसी तरह स्थिति पर काबू पाया. कैंट पुलिस ने आरोपी इंस्पेक्टर को एसएसपी आवास से मंडलीय अस्तपताल ले जाकर उसका मेडिकल परीक्षण कराया.

जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार को आरोपी इंस्पेक्टर के खिलाफ कैंट थाने में रेप पीड़िता को जान से मारने और गैंगरेप करवाने की धमकी देने के आरोप में केस दर्ज हुआ था. कैंट पुलिस ने बताया कि फुलवरिया चौकी प्रभारी अजय पाल की तहरीर पर आत्महत्या की कोशिश और जान से मारने की धमकी देने के मामले में इंस्पेक्टर के खिलाफ केस दर्ज किया गया है.

मुख्तार के करीबी मेराज ने किया सेरेंडर, फर्जी शस्त्र लाइसेंस मामलें में था फरार

इस मामले में एसएसपी अमित पाठक ने बताया कि जनवरी माह में इंस्पेक्टर अमित कुमार के खिलाफ केस दर्ज किया गया था. अमित कुमार मथुरा के कोसी कला थाने पर दरोगा था. 2019 में प्रमोशन के बाद उसका वाराणसी के क्राइम ब्रांच में पोस्टिंग हो गई. मथुरा के कोसीकला से आई एक युवती ने 7 जनवरी 2020 को तत्कालीन एसएसपी प्रभाकर चौधरी से इंस्पेक्टर अमित कुमार के खिलाफ तहरीर दी थी. तहरीर में युवती ने बताया कि आरोपी इंस्पेक्टर ने साल 2013 में नशे की दवा पिलाकर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाया था. आरोपी इंस्पेक्टर जब वाराणसी आ गया, तब वह युवती को फोटो और वीडियो दिखाकर ब्लैकमेल करने लगा.  

सीएम योगी आदित्यनाथ ने सीबीआई को सौंपी हाथरस गैंगरेप की जांच

एसएसपी के आदेश पर उसके खिलाफ आठ जनवरी 2020 को केस दर्ज किया गया था. फिर उसे निलंबित कर दिया गया था. शुक्रवार को इंस्पेक्टर पर गवाह को धमकी देने के मामले में कैंट थाने में केस दर्ज किया गया. मामले में विभागीय जांच एसपी सिटी को सौंप दी गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें