RRB NTPC : वाराणसी में भी बिहार बंद का असर ! कांग्रेस के कई नेता हुए हॉउस अरेस्ट

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Fri, 28th Jan 2022, 4:21 PM IST
  • आरआरबी एनटीपीसी रिजल्ट को लेकर आंदोलनरत छात्रों ने RRB के बहाली प्रक्रिया व रिजल्ट पर गंभीर आरोप लगाया है. इसी के चलते छात्रों ने 28 जनवरी 2022 को बिहार बंद का ऐलान किया है. वाराणसी में इसके प्रभाव की आशंका को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने पहले ही जिले के कई कांग्रेस नेताओं को हॉउस अरेस्ट कर दिया है.
प्रतीकात्मक फोटो

वाराणसी. आरआरबी एनटीपीसी के बहाली प्रक्रिया और रिजल्ट पर अभ्यर्थियों ने गंभीर आरोप लगाया है. आरआरबी की तरफ से हाल ही में जारी रिजल्ट के बाद देशभर के छात्रों में गुस्सा है. कई राज्यों के छात्र इसके विरोध में आंदोलन भी कर रहे हैं. वहीं एकजुटता दिखाते हुए छात्रों ने 28 जनवरी 2022 को बिहार बंद का आह्वान किया है. इस बंदी में छात्र संगठनों के साथ कांग्रेस समेत अन्य कई बड़े दल भी सड़क पर है. 

इसी को देखते हुए वाराणसी प्रशासन ने पहले से ही सतर्कता दिखाई है. मिली जानकारी के अनुसार, शुक्रवार सुबह से ही पुलिस कांगेस नेताओ के घर पहरा दे रही है. इस क्रम में भेलूपुर पुलिस ने कांग्रेस कार्यकर्ता अविनाश मिश्र, प्रदेश सचिव युवा कांग्रेस चंचल शर्मा सहित अन्य लोगों के घर के बाहर सुबह से ही पहरा देने के लिए पुलिसकर्मीयों को तैनात किया है. शासन प्रशासन के इस रवैए से कांग्रेसी नेताओं ने नाराजगी जताई.

UP चुनाव: बीजेपी की 91 उम्मीदवारों की एक और लिस्ट जारी, इन मंत्रियों को टिकट

बता दें कि छात्रों का आरआरबी के खिलाफ करीब एक सप्ताह से आंदोलन चल रहा है. इस आंदोलन में बिहार के कई जिलों से आगजनी की खबर भी आई है. उग्र छात्रों ने राष्ट्रीय संपत्ती कही जाने वाली कई ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया तो कई ट्रेनों को निरस्त भी करना पड़ा. यूपी के प्रयागराज में पुलिस प्रशासन बेगुनाह छात्रों को पीटती नजर आई. ऐसे में कई राजनीतिक दलों की तरफ से छात्रों के इस आंदोलन को समर्थन भी मिला है.

बिहार बंदी के ऐलान के बाद छात्रों के इस आंदोलन को राजनीतिक पार्टियां अपनी राजनीति चमकाने के लिए हाइजैक न कर ले शायद इसी के चलते संबंधित राज्यों में शासन व प्रशासन की तरफ से सतर्कता अपनाई गई है. इसी कारण वाराणसी में भी कांग्रेस नेताओं को उनके घर पर ही हाऊस अरेस्ट कर दिया गया. हालांकि पुलिस कर्मीयों द्वारा घरों के बाहर सुबह से ही पहरेदारी को लेकर कांग्रेस नेता काफी खफा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें