वाराणसी में अतिक्रमण हटाने पहुंची रेलवे पुलिस को झेलना पड़ा लोगों का विरोध, फुटओवर ब्रिज का काम अटका

Deepakshi Sharma, Last updated: Sat, 25th Sep 2021, 2:05 PM IST
  • वाराणसी में अतिक्रमण हटाने पहुंची रेलवे और कैंट पुलिस का लोगों ने विरोध किया. कैंट रेलवे स्टेशन की सेकेंड एंट्री की तरफ बने 5 पक्के निर्माण को हटाया जाना है. यहां पर लोग करीब 30 साल से कब्जा जमाकर बैठे हुए हैं. तीसरे फुटओवर ब्रिज के लिए अतिक्रमण को हटाया जाना काफी जरुरी है.
अतिक्रमण हटाने पर रेलवे पुलिस से विरोध करते लोग

वाराणसी. वाराणसी में कैंट रेलवे स्टेशन की दूसरी एंट्री की ओर अतिक्रमण हटाने पहुंची रेलवे और कैंट पुलिस का लोगों ने जमकर विरोध किया. यहां पर 5 पक्के निर्माण हटाए जाने हैं. रेलवे अधिकारियों की माने तो यहां 30 साल से लोग कब्जा कर रह रहे थे. स्टेशन के तीसरे फुटओवर ब्रिज के निर्माण के लिए अतिक्रमण को हटाया जाना बेहद जरूरी है.

5 पक्के निर्माण में पीछे की तरफ लोग अपने परिवार के साथ रह रहे हैं. जबक आगे की तरफ लोगों ने दुकान खोल रखी है. अतिक्रमण को हटाने जाने के लिए 5 दिन पहले रेलवे की ओर से नोटिस जारी किया गया था, लेकिन फिर भी लोगों ने मकान खाली नहीं किए हैं. वही, दूसरी तरफ लोगों का ये दावा है कि रक्षा संपदा की ओर से यह जमीन उन्हें लीज पर दी गई है. जबकि रेलवे का ये कहना है कि लीज की अवधि अब खत्म हो चुकी है. तीसर फुजओर ब्रिज को बनाने के लिए ये जगह काफी जरुरी है. ब्रिज का दूसरा छोर इसी जगह पर बनना है. इसके अलावा सेकेंड एंट्री की पार्किंग का काम भी यहीं होने वाला है.

प्रेमी से शादी की जिद पर दुखी पिता ने पुलिस के सामने काट ली हाथ की नस

जब नगर निगम का चला डंडा

वही, इन सबसे पहले वाराणसी में अतिक्रमण करने वालों पर नगर निगम ने अपना डंडा चलाया और अवैध निर्माण पर कार्रवाई की गई. दरअसल नगर आयुक्त प्रणय सिंह के निर्देश पर नगर निगम प्रवर्तन दल की तरफ से अपर नगर आयुक्त द्वितीय की मौजूदगी में अभियान चलाया गया. इसके चलते जोनल अधिकारी, भेलुपुर जोन ने अतिक्रमण निरीक्षण संजय श्रीवास्तव और उनकी टीम के साथ मिलकर खोजवां क्षेत्र में गली में अतिक्रम कर बनाए जा रहे मकान का हिस्सा गिरा दिया. साथ ही भवन स्वामी को दोबारा अतिक्रमण करने पर सख्त हिदायत तक दी गई.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें