अजब-गजब: UP पुलिस ने शिकायत लिखने की जगह लूट करने वाले गुंडों से करा दी सुलह

Smart News Team, Last updated: 19/11/2020 10:46 PM IST
  • वाराणसी के सेवापुरी थाने में में पुलिस ने शिकयतकर्ता और बदमाशों के बीच थाने में पंचायत कर सुलह करा दिया. बदमाशों ने पीड़ित से भरे बाजार में उसकी बाइक और मोबाइल को छीन लिया था.
वाराणसी पुलिस ने शिकायत लिखने के बजाय कराया सुल

वाराणसी में गुरुवार को कपसेठी थाना की पुलिस ने बदमाशों और शिकायतकर्ता के बीच सुलह कराकर वापस भेज दिया. शिकायतकर्ता बदमाशों के खिलाफ अपने साथ हुए लूट-मार की रिपोर्ट लिखवाने गया था लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट लिखने की बजाज दोनों पक्षों में सुलह करा कर मामले को रफा-दफा कर दिया. यह पूरा मामला सेवापुरी के कपसेठी थाना मे हुआ.

कपसेठी थाना क्षेत्र के भीषमपुर निवासी शुभम सिंह पीआरबी पुलिस को अपने साथ हुए लूटमार के खबर दिया था. उसने बताया कि भूल के पूरा गांव स्थित एक महाविद्यालय के पास कुछ बदमाशों ने उसकी बाइक और मोबाइल जबरन लूट कर ले ली. सूचना पाकर पीआरबी पुलिस वहां पहुंची और शिकायतकर्ता को अपने साथ थाने ले आई. पुलिस थाने में पीड़ित युवक ने चार लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दिया.

गर्ल्स हाॅस्टल के गाॅर्ड की हालत नाजुक, छेड़छाड़ का विरोध करने पर लगी थी गोली

युवक के तहरीर पर पुलिस ने कुछ देर बाद आरोपी उन चार लोगों को बाइक समेत थाने लेकर आई. जिसके बाद पुलिस ने थाने में पंचायत शुरू कर दी. पुलिस ने बिना मुकदमा दर्ज किए हि दोनों पक्षों के बीच सुलह कराया और शिकायती कर्ता युवक को उसकी वाहन सौंप दिया.

पुलिस ने इस पूरे मामले बारे में बताया कि शिकायतकर्ता शुभम सिंह ने ऑनलाइन जुआ खेलने के लिए गांव के कुछ लोगों से उधार लिए थे. वह उन रुपयों को समय पर चुका नहीं पाया तो उधार देने वालों ने उसकी बाइक उसका मोबाइल ले लिया था. जिन्हे उधार चुकता करने के बाद उसे उसकी बाइक और मोबाइल वापस कर दिया गया.

अवैध ट्रेन टिकट बेचने पर टूर एंड ट्रैवल्स एजेंसी पर CBI की छापेमारी, 2 अरेस्ट

ऐसा ही बताना जा रहा है कि शुभम सिंह ने जुए में तकरीबन ढाई लाख रुपए हार गया था. जिसे चुका नहीं पाने के चलते हैं उधार देने वाले उसे तंग कर रहे थे. जिसके चलते उसकी बाइक और मोबाइल छीन लिया था. गौरतलब हो कि कुछ दिनों से कपसेठी थाना क्षेत्र के कई गांवों में ऑनलाइन जुआ खेलने का धंधा बड़े पैमाने पर चल रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें