वाराणसी पुलिस ने छापा मारकर दो क्विंटल अवैध पटाखा बरामद किया, एक गिरफ्तार

Anurag Gupta1, Last updated: Tue, 12th Oct 2021, 12:46 PM IST
वाराणसी पुलिस ने छापामार दो क्विंटल अवैध पटाखा बरामद किया. पुलिस ने मुखबिरी मिलने पर दालमंडी क्षेत्र में में छापा मारा. भीखा शाह गली से अवैध पटाखे बरामद हुए जिसमें मोहम्मद मुन्नू को गिरफ्तार किया गया है.
वाराणसी में पुलिस ने छापेमारी में अवैध पटाखा बरामद किए (फाइल फोटो)

वाराणसी. दीपावली के मद्देनजर वाराणसी कमिश्नरेट ने अवैध पटाखों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया है. अभियान के दौरान चौक के दालमंडी क्षेत्र में पुलिस में छापा मारा जिसमें आठ कार्टन से करीब दो क्विंटल पटाखा बरामद किया. भीखा शाह गली निवासी मोहम्मद मुन्नू के पास से अवैध पटाखे बरामद हुए है जिसके बाद मुन्नू को गिरफ्तार कर लिया गया है. एसीपी दशाश्वमेध अवधेश पांडेय को मुखबिरी मिली की इलाके में अवैध पटाखों का कारोबार चल रहा है, सूचना के बाद पुलिस ने जब छापेमारी की तो मौके से पटाखे बरामद हुए. पुलिस की इस छापेमार कार्रवाई से अवैध पटाखा कारोबारियों में हड़कंप मचा हुआ है.

मुखबिरी मिलने के बाद एसीपी ने दालमंडी चौकी इंचार्ज अजय कुमार को कार्रवाई के निर्देश दिए. जिस पर पुलिस ने बिना देर किये तलाशी अभियान शुरू कर दिया. तलाशी के दौरान फुटकर में बिक्री करने के लिए रखे गए आठ कार्टन पर नजर पड़ी. कार्टन खोलकर देखा तो उसमें से पटाखों का जखीरा निकला. पुलिस ने माल जब्त करके आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस की इस कार्रवाई से स्थानीय कारोबारी खुश है.

दुर्गा पूजा पर सुरक्षा को लेकर वाराणसी पुलिस कमिश्नर ने की फील्ड अधिकारियों के साथ बैठक

मुखबिरी मिलने पर मारा गया छापा : 

एसीपी दशाश्वमेध अवधेश कुमार पांडेय ने बताया कि क्षेत्र में किसी तरह का गलत या अवैध कारोबार नहीं होने दिया जाएगा. अवैध पटाखों की बिक्री पर प्रतिबंध है यदि कोई व्यक्ति इसमें लिप्त पाया गया तो उस पर कानूनी कार्रवाई होगी. पुलिस को मुखबिरी मिली थी कि दालमंडी क्षेत्र में पटाखों का अवैध कारोबार पैर पसार रहा है जिसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर अवैध माल बरामद किया.

बताया कि पिछले साल भी भारी मात्रा में पटाखा बरामद किया गया था. पुलिस ने अवैध पटाखा पकड़ने में अपना पूरा जोर लगा दिया था. तत्कालीन एसएसपी के द्वारा गठित टीम ने भारी मात्रा में अवैध पटाखा पकडा था. बड़ागांव में एक बड़े कारोबारी का पटाखा गोदाम ही सील कर दिया गया था. जिसके कारण अवैध कारोबारियों के बीच में डर का महौल था. इस बार भी अवैध कारोबारियों को बख्शा नहीं जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें