ट्रेन से कम समय में तय होगी वाराणसी-प्रयागराज की दूरी, 2023 तक पूरी होगी रेल मार्ग की दोहरीकरण परियोजना

Smart News Team, Last updated: Wed, 1st Sep 2021, 2:51 PM IST
  • अब वाराणसी से प्रयागराज के बीच कम समय में अपनी यात्रा पुरी कर पाएंगे. रेलवे वाराणसी-प्रयागराज रेल मार्ग के दोहरीकरण परियोजना का काम कर रहा है. इससे अक्तूबर 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा. प्रथम फेज में बनारस जंक्शन से ज्ञानपुर रेलवे स्टेशन तक कुल 57 किलोमीटर का काम पूरा कर लिया गया है. दूसरे फेज के तहत 43 किलोमीटर में ज्ञानपुर-रामनाथपुर का काम तेजी से चल रहा है.
वाराणसी-प्रयागराज का रेल मार्ग की दोहरीकरण परियोजना 2023 तक होगी पूरी. ( सांकेतिक फोटो )

वाराणसी: यात्री अब वाराणसी से प्रयागराज के बीच कम समय में अपनी यात्रा पुरी कर पाएंगे. रेलवे वाराणसी-प्रयागराज रेल मार्ग के दोहरीकरण परियोजना का काम कर रहा है. इससे अक्तूबर 2023 तक पूरा कर लिया जाएगा. रेलवे वाराणसी-प्रयागराज रेल मार्ग पर चल रहे दोहरीकरण कार्य के निरीक्षण के लिए रविवार को लिए महाप्रबंधक विनय कुमार त्रिपाठी और मंडल प्रबंधक रामाश्रय पांडेय ने प्रयागराज रामबाग रेलवे स्टेशन का दौरा किया था. उन्होंने बताया की इस रेलखंड की दोहरीकरण परियोजना चार फेज में पूरी होगी.

वाराणसी मंडल रेल प्रबंधक रामाश्रय पांडेय के अनुसार इस वाराणसी-प्रयागराज रेल मार्ग की दोहरीकरण परियोजना चार फेज में पूरा करने की योजना है. योजना के तहत प्रथम फेज में बनारस जंक्शन से ज्ञानपुर रेलवे स्टेशन तक कुल 57 किलोमीटर का काम पूरा कर लिया गया है. दूसरे फेज के तहत 43 किलोमीटर में ज्ञानपुर-रामनाथपुर का काम तेजी से चल रहा है. इसके पूरा होते ही 11 किलोमीटर रामनाथपुर-झूंसी और फिर नौ किलोमीटर झूंसी-प्रयागराज मार्ग पर काम किया जाएगा. इस परियोजना के तहत मार्च 2022 तक ज्ञानपुर - रामनाथपुर तक का काम पूरा किया जाना है. इसी परियोजना के तहत गंगा नदी में एक रेलवे ब्रिज का भी निर्माण किया जाएगा. अक्तूबर 2023 तक इस परियोजना को पूरा कर लिया जाएगा.

अब 1000 के करीब पहुंचे LPG सिलेंडर के दाम, जानें अपने शहर में गैस के नया रेट

इस परियोजना के पूरा हो जाने से वाराणसी से रेल मार्ग से प्रयागराज का सफर और भी कम समय में तय किया जा सकेगा. रेल विकास निगम लिमिटेड द्वारा वाराणसी-प्रयागराज रेल मार्ग का दोहरीकरण परियोजना पर तेजी से काम किया जा रहा है. इस परियोजना को पूरा करने के लिए कुल 1293.72 करोड़ स्वीकृत किया गया है. इस परियोजना के तहत गंगा नदी पर एक रेलवे ब्रिज भी बनाया जाएगा. मौजूदा समय में इस मार्ग पर कुल 15 मालगाड़ी और 23 यात्री ट्रेन और का संचालन होता है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें