सॉल्वर गैंग का वाराणसी सरगना कन्हैयालाल गिरफ्तार, लघु सिंचाई विभाग में है कार्यरत

ABHINAV AZAD, Last updated: Mon, 22nd Nov 2021, 9:26 AM IST
  • सॉल्वर गैंग के वाराणसी सरगना कन्हैयालाल सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. गिरफ्तार कन्हैयालाल सिंह चंदौली में लघु सिंचाई विभाग में बोरिंग टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत है.
लघु सिंचाई विभाग में कार्यरत अभियुक्त कन्हैयालाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है.

वाराणसी. सॉल्वर गैंग से संबंधित कई नई बातों का खुलासा हुआ है. दरअसल, अभियुक्त नीलेश उर्फ पीके को पुलिस कस्टडी में रखा गया है. अभियुक्त नीलेश उर्फ पीके से पुलिस कस्टडी में लगातार पूछताछ जारी है. इस पूछताछ के दौरान पुलिस को वाराणसी से संबंधित सहयोगियों के बारे में अहम जानकारी मिली है. साथ ही वाराणसी से संचालित नए गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है.

यह गिरोह विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सेंधमारी कर अभ्यर्थियों को पास कराने का ठेका लेता था, जिसका नेटवर्क प्रदेश के कई जनपदों से लेकर दिल्ली तक है. इस गिरोह के सरगना समेत दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. दोनों के खिलाफ सारनाथ में मुकदमा दर्ज किया गया है. चुनार कोतवाली के बरेठा गांव निवासी अभियुक्त कन्हैयालाल सिंह को गिरफ्तार किया गया है. वह गिरोह का सरगना है. साथ ही उसके साथी सुसुवाही निवासी क्रांति कौशल को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

नीट के सॉल्वर गैंग के सरगना PK पर एक लाख का इनाम घोषित, बिहार से त्रिपुरा तक हो रही तलाश

दोनों अभियुक्तों को सिंहपुर बाईपास के पास से सफारी गाड़ी के साथ गिरफ्तार किया गया. बताया जा रहा है कि कन्हैयालाल सिंह चंदौली में लघु सिंचाई विभाग में बोरिंग टेक्नीशियन के पद पर कार्यरत है, जबकि क्रांति कौशल सुंदरपुर चितईपुर में साइबर कैफे चलाता है. गिरफ्तार अभियुक्त नीट परीक्षा से संबंधित सरगना नीलेश और पीके से करीब पांच साल से लगातार संपर्क में था. साथ ही साथ उत्तर प्रदेश की विभिन्न नौकरियों की परीक्षाओं सहायक शिक्षक, यूपीटेट, यूपीएसआई, एएनएम चिकित्सा विभाग, एसएससी व अन्य कई परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को सॉल्वरों के माध्यम से पास कराने के लिए दिल्ली, लखनऊ एवं कानपुर के अपने अलग साथियों के साथ एक समानांतर गैंग चला रहा था. मिली जानकारी के मुताबिक, दोनों अभियुक्तों के कब्जे से 5 महिला अभ्यर्थियों के ऑरिजनल अंक पत्र, प्रमाण पत्र आदि एवं फर्जी आधार कार्ड तथा काफी संख्या में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों के एडमिट कार्ड मिले हैं. सोमवार को पुलिस दोनों को कोर्ट में पेश कर जेल भेजेगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें