वाराणसी: सोनभद्र जाते समय रोडवेज की जनरथ एसी बस लगी आग, बाल-बाल बचे 60 यात्री

Mithilesh Kumar Patel, Last updated: Mon, 6th Dec 2021, 7:55 PM IST
  • वाराणसी के कैंट रोडवेज से सोनभद्र को जा रही 60 यात्रियों से भरी जनरथ AC बस मंडुआडीह थानाक्षेत्र के ककरमत्ता ओवरब्रिज पर धूं-धूंकर आग के हवाले हो गई. आनन फानन में ड्राइवर व यात्री बस से उतर किसी तरह जान बचाकर बाहर निकल गए. यात्रियों के बस में रखे लाखों के कीमती सामान जलकर राख हो गए.
वाराणसी से सोनभद्र जा रही जनरथ एसी बस ककरमत्ता ओवरब्रिज पर धू-धूंकर जली

वाराणसी. वाराणसी के ककरमत्ता ओवरब्रिज पर सोमवार दोपहर यात्रियों से भरी जनरथ AC बस में अचानक भाषण आग लगने से अफरातफरी मच गई. अगलगी के हवाले हुई बस में सवार 60 यात्री बाल-बाल बच गए. सूचना पाकर मौके पर पहुंची मंडुवाडीह पुलिस ने ओवरब्रिज और पुल के नीचे से गुजरी सर्विस लेन के दोनो तरफ आवागमन रोक दिया. घटनास्थल पर परिवहन निगम के अधिकारी भी पहुंच गए. आग पर काबू पाने के लिए घटनास्थल पर करीब आधे घंटे बाद फायर बिग्रेड टीम पहुंची, तब तक बस के ऊपर और डिक्की में रखे लाखों के सामान पूरी तरह जल कर राख हो गए.

जनरथ एसी बस 60 यात्री व उनके कीमती सामान को लेकर जिले के कैंट रोडवेज से सोनभद्र को जा रही थी. बताया गया है कि सबसे पहले इंजन में आग देखकर ड्राइवर ने यात्रियों से भरी बस रोकी और खुद शोर मचाते हुए बाहर कूद गया. उसके कूदते ही अफरातफरी मच गई .जिसके बाद सहयोगी ड्राइवर और बस में सवार सभी यात्री हाथों में लिए बैग व हल्के सामान लेकर तत्काल बाहर निकल गए. थोड़े ही देर में आग ने विकराल रूप ले लिया. जिसके चलते बस की डिक्की और उसके ऊपर रखे भारी सामान को निकालना संभव नहीं हो पाया.

बाबतपुर एयरपोर्ट में कार्यकर्ताओं से मिले राहुल गांधी, सीनियर लीडर रहे नदारद

आधे घंटे में बस पूरी तरह आग की चपेट में आ गई. मौके पर पहुंची मंडुवाडीह पुलिस ने पुल और सर्विस लेन का आवागमन कुछ देर के लिए रोकवाया. आधे घंटे बाद पहुंची फायर बिग्रेड की टीम ने बस की आग बुझाई. हालांकि तब तक बस की डिक्की में और ऊपर रखे सामान पूरी तरह जलकर राख हो गए.

वसीम रिजवी ने हिंदू धर्म स्वीकारने से पहले लिख दी अपनी वसीयत, ये बताई अपनी अंतिम इच्छा

बस में सवार यात्रियों ने आरोप लगाया है कि ड्राइवर और उसके सहयोगी ने आग लगते ही उन्हें नहीं बताया. उन्होंने कहा कि जब आग भड़क गई तब हमें उतरने को कहा गया. ऐसे में यात्री अपना भारी सामान बस में छोड़कर जान बचाने के लिए नीचे उतर गए. भीषण आग ने कुछ ही मिनटों में पूरे बस को अपनी चपेट में ले लिया जिस कारण यात्रियों के लाखों के कीमती सामान जलकर राख हो गए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें