वाराणसी: नगर निगम में डॉक्टर तैनात न होने पर सपा एमलसी ने सीएम को लिखा पत्र

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Sep 2020, 2:55 PM IST
  • पत्र के जरिये कहा कि नगर निगम का स्वास्थ्य विभाग सेनेटरी इंस्पेक्टर के जरिए चलाया जा रहा है. उन्होंने बिना डॉक्टर्स की सलाह के सेनिटाइजर छिड़काव पर भी प्रश्न चिन्ह लगाया.
योगी आदित्यनाथ

वाराणसी: नगर निगम में डॉक्टर की तैनाती न होने पर सपा एमलसी शतरुद्र प्रकाश ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजा है. एमलसी ने पत्र के जरिये मुख्यमंत्री को नगर निगम के स्वास्थ विभाग को सेनेटरी इंस्पेक्टर द्वारा चलाने की अहम समस्या की ओर अवगत कराते हुए स्वास्थ विभाग में डॉक्टर तैनाती का मामला उठाया है.

उन्होंने वाराणसी में बिना डॉक्टरों की सलाह पर सेनिटाइजर की मात्रा और ऊँचाई से छिड़काव को गलत बताते हुए कहा कि पीएम के संसदीय क्षेत्र में यह उम्मीद के परे है कि महामारी के विभिन्न चरण बीत जाने के बावजूद अभी तक नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग में डॉक्टर की तैनाती नहीं हुई.

उन्होंने पत्र में डॉक्टर की सलाह के बगैर नगर निगम द्वारा कराए गए छिड़काव का जिक्र करते हुए बताया कि महामारी के दौर में रेड, यलो, ग्रीन ज़ोन या हॉटस्पॉट व वाराणसी की सड़कों व गलियों में डॉक्टर की सलाह के बगैर कितनी मात्रा और ऊंचाई से अनुचित तौर पर सेनिटाइजर का छिड़काव कराया गया.

अगर डॉक्टरों की टीम होती तो उनकी सलाह पर छिड़काव का कार्य बेहतर रूप से कराया जा सकता था. उन्होंने बताया कि वह 31 अगस्त को वाराणसी विकास समन्वय व निगरानी समिति की बैठक में इस मुद्दे को प्रमुख रूप से उठा चुके हैं पर कोई फायदा नहीं हुआ. उन्होंने आरोप लगाया कि कोविड 19 महामारी को रोकने के लिए जितने व्यापक इंतजाम नगर निगम द्वारा किये जाने चाहिए थे वे डॉक्टर्स के अभाव में न हो सके.

उन्होंने सीएम योगी के कई बार बनारस दौरे व इस दौरान वहाँ के जनप्रतिनिधियों से मुलाकात का भी जिक्र कर समस्या उनके सामने आने की संभावना व्यक्त करते हुए पत्र के जरिये वाराणसी नगर निगम में डॉक्टर की तैनाती का अनुरोध किया.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें