वाराणसी: स्थिर जल स्तर और ठहरा पानी कहीं बना न दे संक्रामक रोगों की कहानी

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 09:31 PM IST
  • बारिश का मौसम समाप्ति की ओर है बावजूद इसके वाराणसी की गोद से निकली पवित्र गंगा नदी के किनारे रहने वाले बाशिंदे स्थिर जल स्तर और संक्रामक रोगों के पनपने से सशंकित हैं.
प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी: पिछले दिनों हुई बारिश से जहां एक और जल स्तर बढऩे की संभावना से लोगों में बेचैनी है. तो वहीं गंगा नदी के निचले इलाकों में रहने वाले वाराणसी के लोगों में तेजी से बढ़ रहे संक्रामक रोगों को लेकर भी भय पनपता दिखाई दे रहा है.

स्थानीय प्रशासन संक्रामक रोगों के बचाव के लिए अभियान तो चला रहा है लेकिन निचले इलाकों में लोगों के लिए मुसीबत बन रहा है. गंगा नदी का ठहरा जल चुनौती बनकर उभर रहा है. इधर केंद्रीय जल आयोग ने बारिश की संभावना कम ही जताई है. बावजूद इसके मौसम को लेकर दुविधा में रह रहे लोगों में भय देखने को मिल रहा है.

बनारस: BJP विधायक सुशील सिंह के भाई की कार का आर्म्स के साथ पीछा, केस दर्ज

इधर गंगा नदी के निचले इलाकों में प्रशासन की अपेक्षित नजर न पड़ने के कारण संक्रामक रोगों के पनपने से इनकार नहीं किया जा सकता है.

ऐसे में संक्रमण के फैलने के खतरे से परेशान लोग जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग से सुरक्षा की दरकार लगा रहे हैं. देखना यह है कि लोगों की यह दरकार जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के कानों तक पहुंचती भी है या नहीं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें