वाराणसी: कपसेठी रेलवे ट्रैक पर ट्रेन के सामने छोड़े दर्जन भर मवेशी, सभी की मौत

Smart News Team, Last updated: Sat, 9th Jan 2021, 11:44 AM IST
  • वाराणसी के कपसेठी रेलवे स्टेशन के निकट धनापुर गांव के पास कुछ लोगों ने आवारा पशुओं को रेलवे ट्रैक पर धकेल दिया. वाराणसी से ग्वालियर जा रही बुंदेलखंड एक्सप्रेस के सामने आने से सभी जानवरों की मौत हो गई. जिससे वाराणसी भदोही रेलवे मार्ग एक घण्टे तक बधित रहा.
ट्रेन के सामने आने से दर्जन भर मवेशियों की मौत. ( सांकेतिक फोटो )

वाराणसी: कपसेठी रेलवे स्टेशन के निकट बहरी नाला क्षेत्र के धनापुर गांव के पास गुरुवार की देर शाम कुछ तथाकथित लोगों ने आवारा पशुओं से पीछा छुड़ाने के लिए लगभग एक दर्जन भर मवेशी को रेलवे ट्रैक पर खदेंड दिया. जहां वाराणसी से ग्वालियर जा रही बुंदेलखंड एक्सप्रेस के सामने आने से सभी जानवरों की मौत हो गई. हादसे के बाद मांस के लोथड़े ट्रेन की बोगी के ब्रेक व चक्के के बीच फंस जाने का कारण ट्रैन को रोकना पड़ा. इसके कारण वाराणसी भदोही रेलवे मार्ग शाम छह से सात बजे के बीच जाम हो गया.

ट्रैन के लोको पायलट ने बताया कि जब ट्रैन कपसेठी स्टेशन से आगे कंधिया रेलवे फाटक पार कर रही थी, तभी धनापुर गांव के आसपास के लोग अचानक लाठी-ड़ंडा लेकर जानवरों को घेरते हुए दिखे. ट्रेन के नजदीक आते ही सभी पशुओं को ट्रैक पर धकेल दिया. मशेवियों के ट्रैन के टकराने से यात्रियों को जोरदार झटका लगा. ट्रेन करीब 500 आगे जाकर रुकी. हादसे के बाद मवेशियों के अवशेष ट्रैक पर फैल गए. मांस फैले होने के कारण आसपास के लोग दुर्गध से परेशान हो गए.

योगी सरकार ने फिर किया फेरबदल, 41 इंस्पेक्टर का हुआ लखनऊ से तबादला

ट्रेन के चालक ने हादसे की सूचना रेलवे के वरिष्ट अधिकारियों को दी. सूचना के बाद कैंट स्टेशन के निदेशक आनंद मोहन ने बताया कि आरपीएफ के जरिए आरोपित लोगों पहचान की जा रही है. पहचान के बाद लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. इन तथाकथित किसानों की इस क्रूरता पर आसपास के लोग निंदा कर रहे हैं.

नाबालिग लड़की को लेकर कोचिंग सेंटर संचालक फरार, परिवार वालों का अपहरण का आरोप

हार्ट के मरीज कांस्टेबल के इलाज के लिए साथी पुलिसकर्मियों ने दिए 3 लाख रुपए

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें