वाराणसी: भूखंड पर कब्जा हटाने गयी वीडीए की टीम को विरोध के बाद लौटना पड़ा वापस

Smart News Team, Last updated: 11/08/2020 04:33 PM IST
  • ववीडीए की टीम को भारी विरोध के बाद दल-बल के साथ वापस होना पड़ा. वाराणसी के प्रेमचन्द्र नगर कालोनी में स्थित बड़े भूखण्ड पर कब्जा नही हटा सके वीडीए के अधिकारी. हाईकोर्ट में मुकदमा पेंडिंग होने के बावजूद कब्जा हटाने पहुँची थी वीडीए की टीम.
वीडीए की टीम

वाराणसी। वाराणसी के पाण्डेयपुर के प्रेमचंद नगर कालोनी में अधिवक्ता परिवार के एक बड़े भूखण्ड पर कब्जा था, जिसे हटाकर खुद काबिज होने वीडीए की टीम भारी फोर्स के साथ जेसीबी लेकर पहुँची थी. लेकिन वकीलों के भारी विरोध के कारण बिना कब्जा लिए टीम को उल्टे पाँव वापस जाना पड़ा. हालांकि वापस लौटने के बाद इन अधिकारियों ने सभी काश्तकारों से उनके ऑफिस आकर जमीन के कागजात दिखाने की बात कहा है.

मंगलवार को दोपहर में प्रेमचंद नगर कालोनी में भारी पुलिस फोर्स व जेसीबी लेकर वीडीए की टीम पहुँची. स्थानीय लोगों द्वारा बताया गया कि उनका मकशद उस कब्जे पर खुद काबिज होना था. लेकिन आराजी नम्बर 295,337,338,344,345 मौजा पाण्डेयपुर में स्थित लगभग 35 विस्वा भूखण्ड वरिष्ठ अधिवक्ता श्रीनाथ त्रिपाठी के जूनियर अधिवक्ता वीरेन्द्र पटेल वगैरह के नाम से खतैनी में दर्ज है और जब उस जमीन पर हाईकोर्ट में मुकदमा पेंडिंग है तो उसके बावजूद इन अधिकारियों के द्वारा जमीन कब्जाने के लिए आना उनके लिए भारी पड़ गया और वीडीए की टीम को अधिवक्ताओं व परिवार की महिलाओ व पुरुषों के भारी विरोध के कारण वापस लौटना पड़ा।

इसके बाद झल्लाए अधिकारियों ने जमीन के काश्तकारों को दो दिन में जमीन से सम्बंधित सभी रिकार्ड के साथ वीडीए आपिस में दिखाने के लिए बुलाया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें