वाराणसी: बदमाशों से अंतिम सांस तक लड़ता रहा विशाल

Smart News Team, Last updated: 14/08/2020 04:13 PM IST
  • लूट करते वक्त विशाल की खुली नींद, विशाल और हत्यारों से हुई मुठभेड़ विशाल के कमरे से किचन तक फर्श पर फैला हुआ था खून लूट की घटना को अंजाम देने से पहले हत्यारों ने बंद किए सभी कमरों के दरवाजे
हत्या स्थल पर जांच करती पुलिस

वाराणसी। वाराणसी के इंदिरा नगर में रहने वाले विशाल दुबे व हत्यारों का मौत से पहले जमकर सामना हुआ. इस दौरान हत्यारों व विशाल के बीच काफी देर तक लड़ाई होती रही.

अपनी जान बचाने के लिए विशाल कमरे से निकलकर बाथरूम के तरफ दौड़ा लेकिन हत्यारे वहां भी पहुंच गए. कमरे से लेकर बाथरूम तक फैले खून के धब्बे घटना के मंजर को बयां कर रहे हैं. फर्श पर गिरे खून पर पड़े पैरों के निशान दोनों के बीच हाथापाई की घटना को बयां कर रहे हैं.

दरअसल जिस घर में यह घटना हुई है. वह दो मंजिला मकान मीरा राय का है. मीरा राय पटना में रहती है. घर के निचले हिस्से में दो किराएदार हैं. अगले हिस्से में डॉक्टर अमित दुबे अपनी पत्नी उपासना, बच्चे व मां के साथ रहते हैं जबकि पिछले हिस्से में प्रयागराज के बमरौली के रहने वाले सेवानिवृत्त शिक्षक ब्रह्मानंद दुबे पत्नी अर्चना दुबे, बेटा वैभव उर्फ बाबा और विशाल के साथ रहते हैं.

लगभग 4 दिन पहले ब्रह्मानंद अपने बड़े बेटे के पास गए हुए थे. घर में पत्नी अर्चना और बड़ी बहू कमरे में सो रही थी जबकि बगल वाले कमरे में विशाल सोया हुआ था.

हत्यारे रात 12 बजे के करीब किचन का दरवाजा तोड़कर घर के भीतर घुसे और विशाल के कमरे में पहुंचने के बाद लॉबी में लगे चैनल का ताला तोड़कर विशाल के कमरे के पास पहुंचे. घटनास्थल को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि लूटपाट करते समय विशाल की नींद खुल गई. इसके बाद हत्यारों ने विशाल की हत्या कर दी. अपराधी किचन का ताला तोड़ने से पहले डॉक्टर के परिवार का कमरा बाहर से बंद कर दिया.

घर में रखे कूलर चलने के कारण विशाल की चीखें किसी को सुनाई नहीं पड़ी. डॉक्टर नाइट ड्यूटी पर चले गए थे. सुबह सोकर उठे तो बाहर से दरवाजा बंद होने पर उन्होंने इसकी जानकारी उपासना और अर्चना को दी. अर्चना का कमरा भी बाहर से बंद था. इसके बाद उपासना ने घर का दरवाजा खोलने के लिए पड़ोस में रहने वाले युवक को फोन किया. घटनास्थल के समीप लगे सीसीटीवी कैमरे में कोई ठोस सुराग नहीं मिला.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें