प्रेमिका की शादी हो जाने के गम में प्रेमी ने खुद को मारी गोली, प्रेम पत्र छोड़ा

Smart News Team, Last updated: 20/09/2020 07:00 AM IST
  • वाराणसी के कपसेठी थाना क्षेत्र के सरावां गांव का निवासी अजय कुमार जायसवाल ने प्रेमिका की कहीं और शादी हो जाने की गम में प्रेमी ने खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली. 12 पन्‍नों का प्रेम पत्र बरामद हुआ है. 
प्रेमिका की कहीं और शादी हो जाने की गम में प्रेमी ने खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली.

वाराणसी. वाराणसी के एक प्रेमी ने खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली. बताया जा रहा है कि प्रेमी युवक की प्रेमिका की कहीं और शादी हो जाने की वजह से प्रेमी ने गम में आकर आत्महत्या कर ली. पुलिस ने युवक के शव के पास से 12 पन्‍नों का प्रेम पत्र बरामद किया है. पुलिस इस प्रेम पत्र को सुसाइड नोट मान रही है. 

जानकारी के अनुसार प्रेमी वाराणसी के कपसेठी थाना क्षेत्र के सरावां गांव का निवासी था. शनिवार की भोर में प्रेमी अजय कुमार जायसवाल ने घर के ड्राइंगरूम में लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मारकर आत्‍महत्‍या कर ली. उस दौरान घर के सभी सदस्‍य सो रहे थे. घरवालों को उस वक्त गोली की आवाज सुनाई नहीं दी. घर के एक सदस्य को सुबह इसके बारे में पता चला. बताया जा  रहा है कि अजय कुमार दिल्ली में रहकर नौकरी करता था. 

मुख्तार अंसारी की पत्नी और दो रिश्तेदारों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में वारंट जारी

कोरोना संक्रमण के कारण लगे लॉकडाउन के बाद वह जुलाई में घर आया था. बताया जा रहा है कि अजय कुमार चार साल से किसी लड़की के साथ प्रेम संबंध में था. लेकिन,  कुछ दिन पहले लड़की की शादी कहीं और हो गई. जिसके बाद से वह डिप्रेशन में आ गया था. 

वाराणसी: नवविवाहिता ने लगाई फांसी, घरवालों ने लगाया दहेज प्रताड़ना का आरोप

शुक्रवार की रात वह खाना खाने के बाद ड्राइंगरूम में सोने के लिए चला गया. सुबह परिजनों को पता चला कि अपनी लाइसेंसी बंदूक से उसने खुद को गोली मार ली है. इसके बाद उसकी मौके पर ही मौत हो गई. परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी. मौके पर पहुंचे थानाध्यक्ष राजू दिवाकर ने घटनास्थल की जांच की. उन्होंने बताया कि फोरेंसिक टीम को इसके बारे में अवगत करा दिया गया है. पुलिस को घटनास्थल पर लाइसेंसी बंदूक और एक खोखा मिला. पुलिस ने बताया कि अजय ने 12 पन्‍ने का प्रेम पत्र लिखा था, जिसमें प्रेमिका के कहीं और शादी कर लेने की बात कही थी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें