पशु आश्रय स्थल पर अधिकारियों से ग्रामीणों की नोकझोंक, चारा में धांधली का आरोप

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Dec 2020, 2:45 PM IST
  • ग्रामीणों का आरोप है कि चारा को लेकर घोटाला किया जा रहा है. पशुओं को चारा की जगह पुआला खिलाया जा रहा है जिसके कारण पशुओं की मौत हो रही है. ग्रामीण अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए मुख्य सचिव से मिलने वाले थे लेकिन उनका दौरा रद्द होने के कारण संभव नहीं हो सका.
चारा में धांधली का आरोप के चलते ग्रामीणों का अधिकारियों से नोकझोक.

वाराणसी. सारनाथ के पशु आश्रय स्थल में खामियों को लेकर परेशान गांव के लोगों और अधिकारियों में नोंकझोक हो गई. ग्रामीणों का आरोप है कि चारा को लेकर घोटाला किया जा रहा है. पशुओं को चारा की जगह पुआला खिलाया जा रहा है जिसके कारण पशुओं की मौत हो रही है. ग्रामीण अपनी शिकायत दर्ज कराने के लिए मुख्य सचिव से मिलने वाले थे लेकिन उनका दौरा रद्द होने के कारण संभव नहीं हो सका. 

ग्रामीण भृगु नाथ पांडेय के नेतृव अपर मुख्य सचिव से मिलने के लिए आये ग्रामीणों ने अधिकारियों पर आरोप लगाया है कि  पशु आश्रय स्थल पर पशुओं को चारा की जगह केवल पुआल डाल देते है जिसके कारण जानवरों को रोगग्रस्त हो रहे हैं और कुछ की बीमारियां लगने मौत हो रही है. कई बार अधिकारियों से शिकायत की गई है लेकिन कोई अधिकारी बात सुनने को तैयार नहीं है. इसलिए ग्रामीण ने मुख्य सचिव से मिलकर समस्या सुनने का आग्रह करने आ रहे थे. 

वाराणसी पार्टी कार्यकताओं ने मनाया कांग्रेस पार्टी का 135वां स्थापना दिवस

रविवार को ब्लाक डेवलपमेंट आफिसर चिरईगांव के नेतृत्व में अधिकारियों ने छाहीं स्थित पशु आश्रय स्थल की साफ-सफाई कराई. पशुओं का टीकाकरण करने के बाद उनके कान में छेदकर गिनती की गई थी. अपर मुख्य सचिव के दौरे को लेकर मौके पर एडीओ पंचायत सीताराम, पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आर चौधरी, पशुधन प्रसार अधिकारी उधम सिंह पहुंचे थे. पशु आश्रय स्थल की खामियों के लेकर ग्रामीणों व अधिकारियों में नोंकझोंक होने लगी. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें