वाराणसी: जहरीली शराब के व्यापारी को छुड़वाने के लिए थाने का घेराव, चक्का जाम

Smart News Team, Last updated: Wed, 21st Oct 2020, 3:47 PM IST
  • जहरीली शराब के कारोबार के आरोप में गिरफ्तार व्यक्तियों को रिहा करने की मांग को लेकर बुधवार को ग्रामीणों ने रोहनिया थाने का घेराव किया. इसका नेतृत्व एक आरोपी के बेटे ने किया. बता दें कि आरोपियों के ऊपर गैंगस्टर एक्ट के तहत धाराएं लगाई गई हैं. 
ग्रामीणों के प्रदर्शन के बाद थाने में तैनात पुलिस बल

वाराणसी: बीते दिनों लंबी जांच प्रक्रिया के बाद जहरीली शराब के धंधे के आरोप में गिरफ्तार रोहनिया थाना क्षेत्र के भवानीपुर के रहने वाले तीन आरोपियों को छुड़ाने के लिए बुधवार को संख्या में ग्रामीण थाने पर आकर हंगामा किया और थाने का घेराव किया. इन आरोपियों को गैंगस्टर एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर लोगों को थाने से खदेड़ा उसके बाद उत्तेजित ग्रामीणों ने जीटी रोड को जाम कर दिया.

इस मामले में जानकारी देते हुए रोहनिया थाना प्रभारी रोहनिया परशुराम त्रिपाठी ने बताया कि बृज नाथ सिंह, इंद्रजीत पटेल विजय कुमार निवासी भवानीपुर जहरीली शराब बनाने का धंधा पहले से करते आ रहे थे. लगभग 6 माह पूर्व 17 अप्रैल 2020 को भवानीपुर के पास से एक जहरीले शराब बनाने का कारखाना पकड़ा गया था. जिसमें लहान व यूरिया आदि पाया गया था. मौके से वृजराज गिरफ्तार हुआ था. जिसको परीक्षण के लिए रामनगर परिक्षण केंद्र भेजा गया था और उस में जहरीली व मिलावटी शराब पाया गया था और आबकारी एक्ट व जहरीली शराब का मुकदमा भी दर्ज हुआ था.

प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों को समझाती पुलिस

बीएचयू के बीए सेकेंड इयर के छात्र से रिसर्च स्कॉलर ने की मारपीट, दोनों अरेस्ट

जांच में बृज नाथ सिंह, इंद्रजीत पटेल विजय कुमार  नाम भी सामना आया था. अवैध शराब पकड़ी गई थी. जिसके बाद इन तीनों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया था. 14 सिंतबर को गैंगस्टर की कार्रवाई के लिए भेजा गया था. 15 अक्टूबर को गैंगस्टर की कार्रवाई पूर्ण हो गई. इन तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था.

UP कांग्रेस अध्यक्ष लल्लू मेरठ में अवैध शराब के कारण मरे लोगों के परिवार से मिले

इसको छुड़ाने के लिए भृगुनाथ पटेल के नेतृत्व में थाना का घेराव करने लगभग 30 -40 महिला 30 -40 पुरुष थाने पर आकर हंगामा करने लगे. पथराव करने लगे हालांकि पथराव में कोई चोटिल नहीं हुआ है. चक्का जाम लगभग 9:00 बजे से 9:30 बजे तक रहा. लगभग 2 घंटे थाने पर काफी अफरातफरी मची रही. घटना की सूचना पाकर ग्रामीण पुलिस अधीक्षक व क्षेत्राधिकारी सदर मौके पर पहुंचे थे. समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष सुजीत यादव भी पहुंचे थे. उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच के साथ ही उचित कार्रवाई की मांग की.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें