विशाल मर्डर मिस्ट्री नहीं पा रही सुलझ, परिवार बोला-पुलिस चाहती तो बचा सकती थी

Smart News Team, Last updated: Fri, 5th Feb 2021, 11:06 PM IST
  • पैगम्बरपुर (पंचकोशी) निवासी नौ वर्षीय विशाल कुमार की हत्या में पुलिस उलझ गई है. विशाल का शव 1 फरवरी को बरामद किया गया था. लेकिन अभी तक कोई भी सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है
विशाल मर्डर मिस्ट्री नहीं पा रही सुलझ, परिवार बोला-पुलिस चाहती तो बचा सकती थी

वाराणसी: 1 फरवरी को जिस विशाल की लाश सारनाथ क्षेत्र के पैगम्बरपुर के एक हाते में मिली थी. उसकी हत्या की गुत्थी पुलिस अभी भी नहीं सुलझा पाई है. पैगम्बरपुर (पंचकोशी) निवासी नौ वर्षीय विशाल कुमार की हत्या में पुलिस उलझ गई है. विशाल का शव 1 फरवरी को बरामद किया गया था. लेकिन अभी तक कोई भी सुराग पुलिस के हाथ नहीं लगा है. पुलिस संदिग्ध लोगों को उठाकर लगातार पूछताछ कर रही है. बताते चलें कि नौ वर्षीय विशाल कुमार पैगम्बरपुर प्राथमिक विद्यालय में कक्षा चार का छात्र था. 

और वह तीन भाइयों बहनों में सबसे छोटा था. बीती 29 जनवरी की दोपहर वह हाथी देखने के लिए घर से निकला था. लेकीन वापस घर नहीं लौटा. विशाल के मजदूरी करने वाले पिता मंजे कुमार ने बताया कि घर पर एक कोई पत्र फेंक गया था. पत्र में लिखा गया था कि 50 हजार रुपये दो नहीं तो बच्चे को मार देंगे. बच्चे के गायब होने के साथ ही फिरौती के लिए धमकी भरा पत्र मिलने पर विशाल के पिता ने इसकी सूचना सारनाथ थाना प्रभारी इंद्र भूषण यादव को दी गई थी.

महाप्रबंधक ने किया मंडुआडीह स्टेशन का निरीक्षण, समपार फाटक बंद करने के निर्देश

 परिजनों का आरोप है कि, इस पत्र और धमकी को को पुलिस ने गंभीरता से नहीं लिया. इसके बाद एक फरवरी सोमवार को विशाल का शव पैगम्बरपुर स्थित एक हाते में मिला. जिसके बाद विशाल के घर में कोहराम मच गया. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में विशाल की हत्या गला दबाकर करने का मामला सामने आया है. उधर कार्यवाहक एसएचओ सारनाथ सुनील यादव ने बताया कि कई बिंदुओं पर जांच चल रही है. संदिग्ध लोगों से पूछताछ जारी है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें