करवाचौथ पर पति को देखने के लिए महिला ने घर के बाहर दिया धरना, वह चाहता है तलाक

Smart News Team, Last updated: Fri, 25th Dec 2020, 7:47 PM IST
  • वाराणसी में करवाचौथ पर एक महिला अपने पति के साथ रहने के लिए जिद पर अड़ गई. वहीं पति उसके साथ तलाक चाहता है. महिला पति के घर के बाहर उसके इंतजार में बैठी.
वाराणसी में पत्नी पति के साथ रहने के लिए घर के बाहर धरने पर बैठी. प्रतीकात्मक तस्वीर

वाराणसी. वाराणसी में करवाचौथ पर एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें पति, पत्नी के साथ रहना नहीं चाहता और पत्नी उसके साथ रहने के लिए जिद पर अड़ी है. इसके लिए पत्नी  अपने ससुराल में घर के बार धरने पर बैठ गई है. पत्नी पति के लिए ठंड में भी घर की चौखट पर बैठी रही.

चेलापुर पुलिस ने कहा कि विवाहिता अपने पति के साथ रहना चाह रही है. वह दूसरी शादी नहीं करना चाह रही है. दोनों पक्ष की ओर न्यायलय में मुकदमा है. पंचायत के बाद पति, पत्नी को रखने को तैयार नहीं है. पत्नी भी पति के साथ रहने पर आमदा है. विवाहिता पति के घर के बाहर बैठी है.

भ्रस्टाचार के खिलाफ सीएम योगी का एक्शन, दो डिप्टी कमिश्न निलंबित

ये मामला वाराणसी के चेलापुर थाने के एक गांव का है. 2016 में लड़के की शादी सोनभद्र जिले के राबर्ट्सगंज की एक लड़की से हुई थी. शादी के 6 महीने के बाद लड़की दिल्ली कमाने गया तो पत्नी को भी साथ ले गया. कुछ दिन साथ में रहने के बाद दोनों के बीच मनमुटाव शुरू हो गया. जिसके बाद लड़का अपनी पत्नी को मायके छोड़ गया.

बादाम, काजू समेत सभी ड्राई फ्रूट्स के गिरे दाम, मेवा बाजार में मंदी के आसार

जिसके बाद ससुराल वालों ने कोर्ट में तलाक की अर्जी दी. जिससे विवाद शुरू हुआ. जिसको निपटाने के लिए मंगलवार को चोलापुर थाने में पंचायत हुई. जिसमें लड़की ने कहा कि वो मायके नहीं जाएगी और न ही दूसरी शादी करेगी. वहीं पति पत्नी के साथ रहने को तैयार नहीं हुआ. जिसके बाद पत्नी, पति के साथ रहने के लिए जिद पर अड़ गई.

वाराणसी दौरे पर राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, काशी विश्वनाथ के किए दर्शन

पंचायत के बाद विवाहिता अपने ससुराल गई. जब उसने घर के अंदर जाने की कोशिश की तो उसे अंदर नहीं आने दिया. जिसके बाद वो घर की चौखट पर बैठकर पति का इंतजार करने लगी. सूचना मिलते ही मौके पहुंचकर पुलिस ने महिला को समझाया लेकिन वो जिद पर अड़ी रही. मंगलवार की रात उसने घर के बाहर ही बिताई.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें