Kashi Vishwanath Corridor: 27 हजार शिव मंदिरों में होगी पूजा अर्चना, होगा लाइव ब्रॉडकास्ट

ABHINAV AZAD, Last updated: Tue, 7th Dec 2021, 2:05 PM IST
  • काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण समारोह पर उत्तर प्रदेश के 27 हजार शिव मंदिरों में जलाभिषेक और दुग्धाभिषेक के साथ लोकार्पण का सीधा प्रसारण किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे.
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे.

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण समारोह पर उत्तर प्रदेश के 27 हजार शिव मंदिरों में जलाभिषेक और दुग्धाभिषेक के साथ लोकार्पण का सीधा प्रसारण किया जाएगा. इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री, विधायक, सांसद और पार्टी पदाधिकारी भी उपस्थित रहेंगे.

मिली जानकारी के मुताबिक, बीजेपी ने ग्रेंड काशी-दिव्य काशी कार्यक्रम के तहत काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण समारोह के लिए विशेष इंतजाम किया है. दरअसल, काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण समारोह का 27 हजार शक्ति केंद्रों पर सीधा प्रसारण किया जाएगा. इस तरह बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ ही जनता भी इस कार्यक्रम को लाइव देख सकेगी. बताया जा रहा है कि इसके लिए विशेष इंतजाम किया गया है.

वाराणसी में PM मोदी के दौरे से पहले मस्जिद का रंग बदलने से मुस्लिम समुदाय खफा

दरअसल, शक्ति केंद्र के क्षेत्र में स्थित शिव मंदिर परिसर में कार्यक्रम का सीधा प्रसारण दिखाया जाएगा. मिली जानकारी के मुताबिक, इससे पहले मंदिर में जलाभिषेक और दुग्धाभिषेक के साथ पूजा अर्चना और भजन कीर्तन किए जाएंगे. इस दौरान शक्ति केंद्रों पर सीधा प्रसारण किया जाएगा. बताया जा रहा है कि इन कार्यक्रमों के जरिये करीब दस लाख लोगों को इससे जोड़ने की योजना है. बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में काशी विश्वनाथ कॉरिडोर का लोकार्पण करेंगे. काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण समारोह पर उत्तर प्रदेश के 27 हजार शिव मंदिरों में जलाभिषेक और दुग्धाभिषेक के साथ लोकार्पण का सीधा प्रसारण किया जाएगा. इस कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार के मंत्री, विधायक, सांसद और पार्टी पदाधिकारी भी शामिल होंगे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें