'वाराणसी को नंबर वन बनाएंगे, शहर को चमकाएंगे'

Smart News Team, Last updated: 18/10/2020 09:22 PM IST
  • साल 2021 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को स्वच्छता रैंकिंग में नंबर वन बनाने के लिए महानगर प्रशासन ने पूरी तरह कमर कस ली है. इसके लिए नगर निगम ने अपने कर्मचारियों को जरूरी दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं.
वाराणसी शहर को नम्बर 1 पे लाने की तैयारी जारी

वाराणसी.वाराणसी साल 2016 को छोड़ दे तो स्वच्छता सर्वेक्षण रैंकिंग में वाराणसी महानगर की वर्ष दर वर्ष सुधार हो रही है. 2016 में जहां देश के 73 बड़े शहरों में से वाराणसी को 65 वां स्थान प्राप्त हुआ था. वहीं साल 2017 में चयनित 404 शहरों की तुलना में महानगर 32वीं रैंकिंग पर था. वर्ष 2018 में स्वच्छता सर्वेक्षण में शामिल देशभर के 4203 शहरों में से वाराणसी को 29 मई स्थान प्राप्त हुआ था वही वर्ष 2019 में 70 वा तो 2 साल 2020 में कराए गए स्वच्छ भारत मिशन के तहत सर्वेक्षण में वाराणसी ने 43 पायदान ऊपर चढ़ते हुए 27 वां स्थान प्राप्त किया था.

शूटिंग स्टेट चैंपियन बना रहा था अपराधियों के लिए फर्जी ट्रेजरी लाइसेंस, अरेस्ट

स्वच्छता सर्वेक्षण में वर्ष दर वर्ष सुधर रही स्थिति को देखते हुए महानगर निगम ने साल 2021 में वाराणसी को स्वच्छता रैंकिंग में नंबर वन बनाने के लिए कड़े प्रयास शुरू कर दिए हैं. इस क्रम में नगर निगम की ओर से शहर को स्वच्छ बनाए रखने के लिए आधुनिक मशीनों का इस्तेमाल करने की योजना बनाई गई है. इस काम में नगर निगम ने जर्मन की सफाई मशीनों सहित स्वच्छता एजेंसियों को भी महानगर को स्वच्छ बनाए जाने की जिम्मेदारी सौंपी है. इसके साथ ही महानगर क्षेत्र में बड़ी संख्या में सामुदायिक शौचालय हेरिटेज बालों में कूड़ा उठान का विशेष प्रबंधन के अलावा 24 घंटे गंगा घाटों की सफाई कराने का इंतजाम शुरू कर दिया है. इतना ही नहीं महानगर पर छेत्र में बनाए गए सामुदायिक स्वच्छ शौचालयों कि बेहतर डेनिस सिस्टम के लिए इनको सीवरेज लाइन से भी जोड़ने की कवायद शुरू कर दी है.

स्वच्छता रैंकिंग उत्तर उत्तर सुधार से उत्साहित नगर निगम की ओर से सफाई के लिए बड़ी संख्या में सफाई कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई हैं. महानगर को नंबर वन बनाने को लेकर नगर आयुक्त गौरांग राठी ने बताया कि नंबर वन लक्ष्य की प्राप्ति के लिए स्वच्छता कार में लगाए गए सफाई कर्मियों, स्वच्छता एजेंसियों के बीच स्वच्छता के लिए प्रतिस्पर्धा का माहौल बनाया गया है. इसमें उनके कार्यों के आधार पर समीक्षा करने के बाद उनकी बेहतर कार्यों के सापेक्ष ग्रेडिंग की जाएगी.

नगर आयुक्त श्री राठी ने दावा किया कि सब कुछ योजनाबद्ध तरीके से सफाई कार्य चलता रहा तो साल 2021 में वह अपने महानगर को निश्चित तौर पर स्वच्छता रैंकिंग में नंबर वन पर लाकर खड़ा कर देंगे.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें