प्रवासियों की जेब पर विमान कंपनियों का वार! 3 गुना बढ़ा वाराणसी-मुंबई का किराया

Smart News Team, Last updated: 12/09/2020 12:18 AM IST
  • वाराणसी से विमान में सफर करने वालों को अधिक जेब ढ़ीली करनी पड़ रही है. कोरोना में लॉकडाउन के बाद मजदूर अपने घरों को लौटे थे लेकिन अब काम के लिए वापस जाना पड़ रहा है तो विमान कंपनियां अपना मुनाफा भुनाने में लगी हैं.
विमान कंपनियों ने दो से तीन गुना किराया बढ़ाया.

वाराणसी. बनारस एयरपोर्ट से जाने वाले विमानों की ज्यादातर सीटें तेजी से बुक हो जाती हैं. इसी का फायदा लेने के लिए विमान कंपनियों ने मुंबई से वाराणसी आने के लिए करीब 5 हजार रुपये से ज्यादा जेब से ढीले करने होंगें. वहीं वाराणसी से मुंबई जाने के लिए 11 हजार रुपये से अधिक किराया देना होगा. ऐसा ही देश के अन्य राज्यों में भी विमान का किराया बढ़ रहा है. 

कोरोना संक्रमण से देशव्यापी लॉकडाउन के बाद प्रवासी अपने घरों को लौटे थे. वहीं अनलॉक के दौरान बहुत कम यात्रियों ने विमान सेवा ली है और अब जब लोग अपने कामों पर लौटने लगे हैं तो विमान कंपनियों ने किराया दो से तीन गुना तक बढ़ा दिया है.

देश में लाॅकडाउन लगने के 2 महीने बाद 25 मई से विमान सेवा शुरू हुई थी. मई और जून के दौरान मुंबई,चन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु सहित देश के अन्य राज्यों से आने वाले विमान का किराया दो से तीन गुना बढ़ा दिया गया था. मई और जून देश में पूरी तरीके से लाॅकडाउन नहीं था जिस वजह अभी कम लोग अपने घर से दूसरे राज्य जा रहे थे. विमान के यात्रियों की संख्या बढ़ने लगी है और अधिकारियों के अनुसार अभी दूसरे राज्यों में जाने वालों अधिकतर संख्या मजदूरों की ही है. 

वाराणसी: रोहनिया इंस्पेक्टर समेत चार पुलिसवालों पर चलेगा केस, मजिस्ट्रेट का आदेश

लाॅकडाउन में देश में सभी काम-धंधा बंद होने की वजह से मजदूर अपने घर की ओर वापस लौट आते हैं. वाराणसी आने के लिए में मई और जून के दौरान मुंबई,चन्नई, हैदराबाद, बेंगलुरु सहित देश के अन्य राज्यों से आने वाले विमान का किराया दो से तीन गुना बढ़ा दिया गया था. इस समय कुछ विमान तो सिर्फ एक से दो दर्जन को वापिस लेकर आ रही थी.  

ग्राम प्रधान की शिकायत करने पर बीजेपी कार्यकर्ता की पिटाई, जांच को गए अफसर भागे

इससे विमानन कंपनियों का नुकसान जो लाॅकडाउन में हुआ था वो धीरे-2 ओर बढ़ने लगा. इससे परेशान होकर कंपनियों ने की रूट की विमान सेवाएं रोक दी. अब धीरे-धीरे यात्रा बढ़ रहे हैं अगर पिछले एक सप्ताह के आंकड़ों की बात करें तो एयरपोर्ट से देश के अलग-अलग शहरों में 22 हजार से अधिक लोग गए और 11 हजार से ज्यादा यात्री वापस आए हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें