भोजपुरी भाषा से जुड़ाव बनाकर भारत फिजी के सांस्कृतिक संबंधों में बढ़ेगी मधुरता

Smart News Team, Last updated: Mon, 22nd Feb 2021, 1:33 PM IST
  • भोजपुरी भाषा और उसकी संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए फिजी की सरकार प्रतिबद्ध है. ऐसा माना जाता है कि भाषा दो व्यक्तियों को विचार को जोड़ती है. इस तरह से भोजपुरी भाषा से जुड़ा बनाकर भारत और फिजी के सांस्कृतिक संबंधों में मधुरता लाने का प्रयास किया जाएगा.
भोजपुरी भाषा से जुड़ाव बनाकर भारत फिजी के सांस्कृतिक संबंधों में बढ़ेगी मधुरता (फाइल तस्वीर)

वाराणसी : यह बात राष्ट्रीय भोजपुरी सम्मेलन में शामिल होने आए फिजी के भारतीय राजदूत नीलेश रोहिल ने हिंदुस्तान स्मार्ट से हुई खास बातचीत के दौरान कहीं. उन्होंने कहा कि भाषा दो व्यक्तियों के विचारों को जोड़ती है. जब विचार जुड़ता है तो अपनापन बढ़ता है. कहां की भोजपुरी भाषा से जुड़ा बनाकर भारत फिजी के सांस्कृतिक संबंधों को और अधिक मधुर बनाए जाने का प्रयास किया जाएगा. कहां थी दोनों देशों के सांस्कृतिक व्यापारिक और पर्यटन स्तर के रिश्तो को और अधिक प्रकार बनाया जाएगा. उन्होंने बताया कि वैसे तो फिजी की मुख्य भाषा अंग्रेजी है लेकिन हाल ही के पिछले कुछ वर्षों से फिजी देश में हिंदी का चलन बढ़ गया है. इस हिंदी भाषा में भोजपुरी भाषा का भी मिश्रण है. 

हिंदी और भोजपुरी मिश्रित भाषा के चलन में वृद्धि करने के उद्देश्य से फिजी सरकार रेडियो पर प्रतिदिन 3 घंटे का एक विशेष प्रस्तुत कार्यक्रम भी प्रसारित कर आ रहा है. जिसको सुनने के लिए लोग काफी उत्साहित रहते हैं. बताया की भोजपुरी भाषा के इस लोक संगीत विधाओं का विकास करने के लिए भेजी सरकार इससे स्कूलों के पाठ्यक्रम में शामिल करने का भी विचार कर रही है. जिससे लोक संगीत का जुड़ाव परिवार से हो सके. उन्होंने बताया कि यह भारतीय संस्कृति की ख्याति का ही परिणाम है कि मौजूदा समय में फिजी देश में गीता और रामायण का पाठ होता है.

मतदान 25 को, वोट के लिए घर-घर जाकर संपर्क कर रहे छात्र संगठन

उन्होंने बताया कि फिजी में आय का मुख्य साधन पर्यटन ही है. माना जाए तो दोनों देशों की संस्कृति में समरूपता भी है.जल्द ही भारतीय टूरिज्म इंडस्ट्री के लोगों को फिजी आमंत्रित करेंगे और वहां के पर्यटन स्थलों से रूबरू कराएंगे. भारतीय राजदूत नीलेश रोहिल कुमार ने बताया कि फिजी सरकार कारोबारी रिश्ता को मजबूती देने के लिए भारतीय व्यवसायियों को निर्यात कर में विशेष छूट देने की योजनाएं बना रही है. कुछ योजनाएं बनकर तैयार हैं, जिनका प्रचार प्रसार किया जाना है. इसके लिए फिजी सरकार से आग्रह करके जल्द ही भारतीय और फ्री व्यापारियों की एक वर्चुअल मीटिंग भी आयोजित कर आएंगे. इससे दोनों देशों के बीच व्यापारिक संबंधों में और मजबूती आएगी.

वाराणसी में नगर पालिका-नगर पंचायतों में स्वकर योजना लागू करने की तैयारी

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें