सावधान अब वाराणसी में डेंगू की दस्तक, सतर्क हुआ स्वास्थ्य महकमा

Smart News Team, Last updated: 19/10/2020 04:06 PM IST
  • 13 अक्टूबर को महावीर हाइट्स लहरतारा में रहने वाले बीएचयू के 48 वर्षीय प्रोफेसर में डेंगू व चिकनगुनिया की पुष्टि हुई है. यह जिले का पहला केस है जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया.
बरसात के मौसम के बाद संचारी रोगों के प्रसार की संभावना, रहना होगा सतर्क

वाराणसी. कोविड-19 संक्रमण के बीच बरसात के मौसम के बाद संचारी रोगों के प्रसार की संभावना को देखते सरकार द्वारा जन जागरूकता हेतु व्यापक अभियान चलाया जा रहा है. वायरल बुखार व मलेरिया पाँव पसार रहे हैं इसके साथ ही गंभीरता की बात यह है कि जानलेवा डेंगू बुखार ने भी अब ज़िले में दस्तक दे दी है. इसकी जानकारी तब हुई जब एक बीएचयू के प्रोफेसर को जाँच में डेंगू की पुष्टि हुई. डेंगू की आमद की भनक लगते ही स्वास्थ्य महकमा सतर्क हो गया और चिकित्सा अधिकारियों के निर्देश पर बीमारी फैलने से निपटने व गंभीरता से उपाय बरतने की कवायद शुरू कर दी गयी है.

नई शिक्षा नीति में सुझाव और दिशा देंगे बीएचयू के चार प्रोफेसर

जिला मलेरिया अधिकारी एससी पांडेय ने बताया कि 13 अक्टूबर को महावीर हाइट्स लहरतारा में रहने वाले बीएचयू के 48 वर्षीय प्रोफेसर में डेंगू व चिकनगुनिया की पुष्टि हुई है.इस संबंध में बीएचयू माइक्रोबायोलॉजी लैब से रिपोर्ट आने के बाद उनके घर लहरतारा महावीर हाइट्स पहुंचकर एंटी लारवा का छिड़काव भी कराया गया.

बताया कि प्रोफेसर से मिली जानकारी के अनुसार उनके घर के आसपास जगह-जगह तालाब और गंदगी व्यापत है जिसके कारण मच्छर को पनपने की आशंका बनती है. इसके लिए जिला पंचायत राज विभाग से बात कर तालाबों की साफ-सफाई का काम जल्दी ही कराया जाएगा. इसके अलावा संचारी रोग के खिलाफ छिड़े अभियान के अंतर्गत स्वास्थ्यकर्मियों द्वारा घर घर जाकर लोगों को बीमारियों से जुड़े लक्षण व घरों व उनके आसपास पानी ना जमा होने देना आदि बातों के प्रति जागरूक किया जा रहा है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें