Dhanteras 2021: धनतेरस पर इस मंत्र के साथ करें तिजोरी की पूजा, कुबेर देव की कृपा से कभी खाली नहीं होगा लॉकर

Pallawi Kumari, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 3:42 PM IST
  • धनतेरस को धन का त्योहार कहा जाता है. इस दिन भगवान धन्वंतरि और मां लक्ष्मी के साथ ही भगवान कुबेर की पूजा भी की जाती है. कुबेर देव की पूजा से धनवैभव की प्राप्ति होती है. धनतेरस के दिन आज तिजोरी में कुबेर पूजा जरूर करें. साथ ही बताए गए इस मंत्र का जाप भी करें. इससे आपकी तिजोरी कभी खाली नहीं रहेगी.
धनतरेस के दिन  करें तिजोरी की पूजा.

दिवाली के त्योहार की शुरुआत वैसे देखा जाए तो धनतरेस के दिन से ही शुरू हो जाती है. धनतरेस के खास मौके पर वैसे तो पूजा पाठ और खरीदारी लोग करते हुए नजर आते हैं, लेकिन बाजारों में आज से ही दिवाली की रौनक नजर आने लगती है. वहीं, धनतेरस वाले दिन को भगवान धन्वंतरि के जन्मोत्सव के रूप में मनाया जाता है. कहा जाता है कि आज के ही भगवान धन्वंतरि अमृत कलश लेकर प्रकट हुए थे. इसलिए धनतरेस के दिन पूजा पाठ कर घर पर धन धान्य और लक्ष्मी के आगमन की प्रार्थना की जाती है. धनतेरस के दिन माता लक्ष्मी, गणेश और धन्वंतरि की पूजा की जाती है. इस दिन भगवान कुबेर की थी विशेष पूजा की जाती है.

कहा जाता है कि अगर माता लक्ष्मी की कृपा से घर में धन की वर्षा होती है तो भगवान कुबेर की कृपा से धन की रक्षा होती है. कई बार ऐसा होता है कि घर पर धन तो खूब आता है लेकिन वह स्थिर नहीं रहता है और हाथ में आते ही हाथ से निकल जाता है. इसलिए कुबरे भगवान की पूजा धनतेरस और दिवाली के दिन जरूर करनी चाहिए, जिससे आपके धन की रक्षा हो सके.

Dhanteras 2021: धनतेरस की तिथि और शुभ मुहूर्त, कुबेर देव होंगे प्रसन्न जरूर करें ये काम

धनतरेस के दिन तिजोरी की पूजा- धनतरेस के दिन शाम को 13 दीप जलाएं और कुबेर भगवान की पूजा करें. भगवान कुबेर की प्रतिमा को तिलक करें और तिजोरी में चावल हल्दी और रोली का तिलक लगाएं. हाथ में फूल रखकर भगवान कुबेर का ध्यान करते हुए  कहें - 'श्रेष्ठ विमान पर विराजमान, गरुड़मणि के समान आभावाले, दोनों हाथों में गदा एवं वर धारण करने वाले, सिर पर श्रेष्ठ मुकुट से अलंकृत तुंदिल शरीर वाले, भगवान शिव के प्रिय मित्र निधिश्वर भगवान कुबेर का मैं ध्यान करता हूं'. 

इसके बाद आरती करें और हाथ जो़ड़कर प्रार्थना करें कि आपकी तिजोरी कभी खाली न रहे. इसके बाद कुबेर देव का मंत्र 'ॐ यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय, धन धन्याधिपतये धन धान्य समृद्धि मे देहि दापय स्वाहा।' का जाप करें.

Dhanteras 2021: धनतेरस पर करें लक्ष्मी, धन्वंतरि, कुबेर व यमराज की पूजा, ये है पूजन-विधि और शुभ मुहूर्त

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें