शामिल हुए 79 गाँवों में मूलभूत विकास की कवायद शुरू

Smart News Team, Last updated: Sat, 7th Nov 2020, 6:49 PM IST
  • वाराणसी की नगरीय सीमा में शामिल होने वाले 79 गांवों के दिन बहुरने की शुरुआत हो चुकी है. इन गाँवों मूलभूत सुविधाओं को नगर निगम स्तर पर विकसित करने के लिए नगर निगम प्रशासन ने सर्वे शुरू करा दिया है. इसके लिए नगर निगम व जल निगम में कार्यों का बंटवारा कर दिया गया है.
वाराणसी की नगरीय सीमा में शामिल होने वाले 79 गांवों के दिन बहुरने की शुरुआत

वाराणसी. जल निगम को सीवेज व पेयजल सुविधाएं विकसित करनी हैं, जबकि नगर निगम के द्वारा सड़क, नाली आदि निर्माण के साथ ही कचरा प्रबंधन का कार्य किया जाएगा. विभागों द्वारा इन कार्यों की रुपरेखा तैयार कर ली गयी है और गाँवों का डेटा एकत्रित किया जा रहा है. नगर निगम के अंतर्गत वर्तमान में कुल 90 वार्ड हैं. नगरीय सीमा में इन गाँवों के शामिल हो जाने के बाद लगभग 20 वार्ड बढ़ सकते हैं.इसके बाद नगर में कुल वार्डों की संख्या 110 हो जाएगी.

नगर आयुक्त गौरांग राठी द्वारा इन 79 गांवों में नगरीय प्रबंधन को दुरुस्त करने के लिए नगर आयुक्त शासन को पत्र भेजा गया है. पत्र के जरिये मैन पावर के साथ ही गाँवों में मूलभूत सुविधाओं को विकसित करने के लिए आवश्यक संसाधनों का भी मुख्य तौर ओर ज़िक्र है. नगर आयुक्त ने इसके लिए डीपीआरओ को भी पत्र लिखकर सफाई व्यवस्था पूर्व की भांति बनाए रखने के लिए कहा है.संभावना जताई जा रही है कि समुचित सफाई व्यवस्था के प्रबंधन हेतु ब्लाक स्तर पर कार्य कर रहे संविदा सफाई कर्मियों को नगर निगम से भी जोड़ा जा सकता है.

सौहार्द की मिसाल, दिवाली पर घर रोशन करेंगे मुस्लिम महिलाओं के हाथ से बने दीये

जल निगम के मुख्य अभियंता ए के पुरवार ने बताया कि नगरीय सीमा में शामिल गाँवों का डेटा इकट्ठा किया जा रहा है. इस आधार पर कार्ययोजना तैयार कर मूलभूत सुविधाओं का विकास किया जाएगा.जलकल सचिव सिद्धार्थ कुमार ने कहा कि नगर निगम के राजस्व विभाग से नगरीय सीमा में शामिल गांवों का दस्तावेज, जनसंख्या, नक्शा आदि मांगा गया है.पेयजल व्यवस्था को लेकर रिपोर्ट तैयार की जा रही है. अभी की व्यवस्थाओं को जलकल के अधीन ले लिया जाएगा.इसके अलावा नई योजनाओं को पूरा करने की जिम्मेदारी जल निगम की होगी जो बाद में जलकल विभाग के सुपुर्द कर दी जाए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें