नई शिक्षा नीति में सुझाव और दिशा देंगे बीएचयू के चार प्रोफेसर

Smart News Team, Last updated: 18/10/2020 04:32 PM IST
  • नई शिक्षा नीति पर सुझाव, मार्गदर्शन और नीति के बेहतर क्रियान्वयन हेतु केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने देश भर के विशेषज्ञों के साथ नौ कमेटियों का गठन किया है. इसी कमेटी के आधार पर देश भर में शिक्षा नीति को लागू किया जाएगा.
नई शिक्षा नीति की कमेटी में बीएचयू के चार प्रोफेसर देंगे सुझाव

वाराणसी. सदस्यों को नई शिक्षा नीति के ग्लोबल स्वरूप, बेहतर फैकल्टी, रिसर्च, इनोवेशन व रैंकिंग और गवर्नेंस व रेगुलेशन जैसे विषयों पर मार्गदर्शन करना है.इस कमेटी में बीएचयू के कुलसचिव नीरज त्रिपाठी, इंटर यूनिवर्सिटी सेंटर फॉर टीचर एजुकेशन के निदेशक प्रो. विनोद कुमार त्रिपाठी, इंस्टीट्यूट आफ एनवार्यनमेंट एंड सस्टनेबल डेवलपमेंट के प्रो. एएस रघुवंशी और भौतिक विज्ञान विभाग के प्रो. बीके सिंह सम्मिलित हैं. चारों विशेषज्ञ सदस्य नई शिक्षा नीति लागू करने पर अपने विचार व सुझाव सरकार को देंगे.

भारतीय और विदेशी विश्वविद्यालय किन कानूनों व नियमों के तहत अपना संचालन करेंगे, इस पर सरकार को सुझाव दिए जाएंगे.इसके अलावा भारत के छात्र विदेश में अध्ययन करने के बजाय कैसे भारत में ही रहकर इसे संभव कर सकें, इसे आसान बनाने के लिए भी सुझावों पर फैसला लिया जाएगा.

कॉलेज में अब शिक्षण कक्षों के अलावा मेडिकल कक्ष भी ज़रूरी

 विश्वविद्यालयों के संबद्ध संस्थानों की मान्यता, स्वायत्तता व उनकी संचालन-पद्धति आदि जैसे संदर्भों पर विचार कर सरकार को समुचित सुझाव दिए जाएंगे. इसके अलावा तमाम अलग मामलों के लिये बने समूहों में विशेषज्ञों के सुझावों के आधार पर ही नई शिक्षा नीति पर अमल किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें