बनारस के घाट आश्रम में मिली 12 साल पहले गोरखपुर में खोई महिला

Smart News Team, Last updated: 09/08/2020 09:10 AM IST
  • 12 साल पहले मानसिक संतुलन बिगड़ जाने से बनारस के स्टेशन पर लावारिस मिली थी महिला, महिला को देखते ही परिवार वालों की आंखों से खुशी से छलक पड़े आंसू, बनारस रेलवे स्टेशन पर लावारिस पड़ी महिला को सामने घाट स्थित अपना घर आश्रम में मिला सहारा
वाराणसी रेलवे  स्टेशन 

वाराणसी। 12 साल पहले गोरखपुर से लापता हुई महिला शनिवार को वाराणसी के सामने घाट स्थित अपना घर आश्रम में मिली. महिला को देखते ही परिजनों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा. परिजनों की आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े.

ज्ञात हो कि गोरखपुर मण्डल अंतर्गत कुशीनगर जिले के खड्डा गांव की रहने वाली महिला का मानसिक संतुलन ठीक नहीं था जिसके चलते वह 12 वर्ष पूर्व भटक कर वाराणसी स्टेशन पहुंच गई थी.

विगत वर्ष महिला वाराणसी के कैंट स्टेशन पर कड़कड़ाती ठंड से ठिठुरते हुए नजर आई. इसके बाद महिला को सामने घाट स्थित अपना घर आश्रम में लाया गया. आश्रम में लगातार महिला की चिकित्सा और सेवा होने के चलते वह कुछ बता पाने की स्थिति में आ गई.

इसके बाद उसने आश्रम के लोगों को अपने घर का पता गोरखपुर के समीप कुशीनगर जनपद के खड्डा गांव बताया. आश्रम के लोगों ने पुलिस से संपर्क कर महिला के घर का पता लगाया.

वहीं महिला के घर वालों को जब उनके जीवित होने की जानकारी हुई तो उनकी खुशी का ठिकाना ना रहा. महिला को घर वापस लाने के लिए उनके भाई और भाभी शनिवार को आश्रम पहुंचे.

12 वर्षों बाद भाई और भाभी को देखकर महिला फूट-फूटकर रो पड़े तो दोनों के आंखों से भी आंसुओं की धार रुकने का नाम नहीं ले रहा था. दोनों ही एक दूसरे के गले लग कर कुछ देर तक रोते ही रहे.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें