संत के जीवन दर्शन को बताती है कबीर की हाईटेक झोपड़ी

Smart News Team, Last updated: Thu, 25th Feb 2021, 12:40 PM IST
  • काशी के नीरू नीमा पीले के बगल में बने कबीर मठ परिसर में बनी संत कबीर दास जी की हाईटेक झोपड़ी उनके जीवन दर्शन को झलक प्रस्तुत करती है. लकड़ी का एहसास कराते आरसीसी खंभों पर टिकी झोपड़ी को बंगाल के कुशल कारीगरों ने बनाया है.
संत कबीर (फाइल तस्वीर)

वाराणसी: संत रैदास और कबीर की चर्चाओं के गवाह बना ऐतिहासिक कुए के ठीक सामने बनी कबीर की हाईटेक झोपड़ी के बगल में उनके माता पिता नीरू नीमा की समाधि है. कुवैत के बाई तरफ संत कबीर की प्लास्टर ऑफ पेरिस की समाधि में लीन प्रतिमा है. कबीर की इस हाईटेक झोपड़ी में पहुंचते ही आपको MP3 ऑडियो में रिकॉर्ड मंत्रमुग्ध करने वाली आवाज में बाल कभी आपका स्वागत करेंगे. यहां पर आपको उनके जीवन की कहानी के बारे में विस्तार से जानकारी दी जाएगी तथा संसार की नश्वरता और दुखों के कारण पर भी प्रकाश डाला जाएगा. 

7 मिनट का ऑडियो सुनते ही आपको अपने आधे दुख दूर हो जाने का एहसास होगा. कबीर की इस हाईटेक झोपड़ी में मन की शांति के लिए कपड़े की बुनाई का एक लूम लगा हुआ है. यहां पर बैठकर कुछ देर कपड़े की बुनाई करके आपका तनाव दूर हो जाता है. लूम में लगे सेंसर से निकलने वाली लूम की खटपट की आवाज के बीच मध्यम आवाज में बज रहा मधुर संगीत आपके तन मन को हल्का कर देता है. मौजूदा समय में कबीर चौरा महोत्सव 2021 को लेकर कबीर मठ पर तैयारियों का दौर चल रहा है. 

वाराणसी: मुंबई और केरल से आने वाले यात्री होंगे होम क्वॉरंटीन

महोत्सव में काशी विद्यापीठऔर बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के ललित कला संकाय के छात्र-छात्राओं द्वारा कबीर के जीवन को दर्शाती पेंटिंग्स भी लगाई जा रही हैं. मटको रंगीन झालरों से सजाया जा रहा है. कबीर मठ के महंत आचार्य विवेक दास जी बताते हैं कि संत कबीर दास की जयंती को धूमधाम से मनाने के लिए कबीर चौरा महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है. इसको लेकर तैयारियां तेजी से पूरी की जा रही है.

वाराणसी: कार ड्राइवर ने छात्र को मारी टक्कर, छात्र के साथ मारपीट का आरोप

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें