Kharmas 2021: आज से खरमास शुरू, एक माह तक शादी-विवाह समेत मांगलिक कामों पर लगा विराम

Pallawi Kumari, Last updated: Thu, 16th Dec 2021, 8:51 AM IST
  • आज 16 दिसंबर से खरमास लग गया है. खरमास को मलमास भी कहते हैं. खरमास के शादी-विवाह समेत मुंडन, गृह प्रवेश जैसे कई शुभ व मांगलिक काम नहीं किए जाते. 14 जनवरी तक खरमास रहेगा. इसके बाद फिर से शुभ लग्न व मुहूर्त शुरू हो जाएंगे.
एक माह शादी विवाह पर लगा विराम

सूर्य के धनु राशि में गोचर करने से खरमास की शुरुआत हो चुकी है. आज यानी 16 दिसंबर को सुबह 3 जबकर 42 मिनट पर सूर्य वृश्चिक राशि से निकलकर धनु राशि में प्रवेश कर चुके हैं. अब सूर्य 14 जनवरी 2022 तक इसी राशि में रहेंगे. यानी 14 जनवरी तक हिंदू धर्म में सभी मांगलिक कार्यों पर मनाही होगी. 14 जनवरी 2022 मकर संक्रांति के दिन सूर्य धनु राशि से निकलकर मकर राशि में परिवर्तन करेंगे. हर माह सूर्य किसी न किसी राशि नें प्रवेश करते हैं, जिस दिन सूर्य राशि परिवतर्न करते हैं उस दिन सूर्यदेव की संक्रांति होती है. जब सूर्य वृश्चिक राशि से निकलकर धनु में प्रवेश करते हैं और पूरे एक माह इसी राशि में रहते हैं तो इस काल को ही खरमास या मलमास कहा जाता है.

खरमास या मलमास के दौरान सभी शुभ व मांगलिक काम वर्जित होते हैं. 15 जनवरी 2022 से शादी-विवाह समेत सभी काम फिर से विधि पूर्वक शुरू हो जाएंगे. खरमास के दौरान सिर्फ श्री सत्यनारायण की पूजा व कथा और तीर्थ दर्शन पर कोई मनाही नहीं होती है. इस समय श्री लक्ष्मीपति वेंकटेश्वर तिरुपति बालाजी का दर्शन और पूजन भी शुभ माना जाता है.

बृहस्पतिवार को करें भगवान विष्णु और लक्ष्मी जी की पूजा, गुरु ग्रह दोष से मिलेगी मुक्ति

खरमास में इन कामों में होगी मनाही-

खरमास के दौरान यज्ञ, देव प्रतिष्ठा, विवाह. तिलकोत्सव, द्विरागमन, गृह प्रवेश, मुंडन समेत अन्य सभी धार्मित अुष्ठान पर मनागी होगी. खरमास में नया व्यापार शुरु करना या नया वाहन खरीदना भी शुभ नहीं माना जाता है हालांकि इस दौरान भगवान सूर्य देव की उपासना करना फलदायी माना गया है. साथ ही खरमास में घर पर एक बार सत्यनारायण की कथा जरूर सुनें.

Year Ender 2021: इस साल पावरी और बचपन का प्यार जैसे इन 8 वीडियो ने मचाया तहलका

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें