फ्रेट विलेज निर्माण के लिए जल्द शुरू होगा भूमि अधिग्रहण

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 11:49 PM IST
  • फ्रेट विलेज में वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज,रैपिंग, पैकेजिंग, कार्गो स्टोरेज, रोड ट्रांसपोर्ट सर्विस के अलावा शहरी जीवन की ज़रूरी सुविधाएं होंगी.
फाइल फोटो

वाराणसी. पीएम की परियोजना में शामिल रामनगर के राल्हूपुर में बने बंदरगाह के समीप प्रस्तावित फ्रेट विलेज के लिए खाका तैयार होना शुरू हो गया है. दो चरणों में बनने वाले फ्रेट विलेज के लिए करीब सौ एकड़ की भूमि का अधिग्रहण होना है. भूमि अधिग्रहण से पहले यहां के सामाजिक संरचना का सर्वे किया जाएगा इसके बाद ही भूमि अधिग्रहण का काम किया जाएगा. सर्वे के लिए एजेंसी नामित करने हेतु चंदौली जिला प्रशासन ने टेंडर भी जारी किया गया है. एजेंसी द्वारा जनपद के ताहिरपुर व मिल्कीपुर गांव की भूमि अधिग्रहण से पूर्व वहां का भौगोलिक, सामाजिक, लोगों की आजीविका की निर्भरता सहित अन्य पहलूओं की जांच की जाएगी जिसकी रिपोर्ट एजेंसी प्रशासन को देगी.

फ्रेट विलेज में वेयर हाउस, कोल्ड स्टोरेज,रैपिंग, पैकेजिंग, कार्गो स्टोरेज, रोड ट्रांसपोर्ट सर्विस के अलावा शहरी जीवन की ज़रूरी सुविधाएं होंगी. इसके बन जाने से बड़े कारोबारियों के अलावा पूर्वांचल के कारोबारी माल स्टोर कर देश के दूसरे हिस्से में भेज और मंगा सकेंगे. फ्रेट विलेज के आकार लेने पर हजारों को रोजगार मिलेगा वहीं गंगा पार नए शहर में जनसंख्या नियोजन का साधन होगा. फ्रेट विलेज के निर्माण हेतु भूमि अधिग्रहण में हो रही देरी को लेकर सरकार नाराज है.इसकी वजह है कि फ्रेट विलेज प्रथम चरण के निर्माण हेतु करीब 74 एकड़ तथा द्वितीय चरण के लिए 26 एकड़ भूमि की आवश्यकता है.

किसान आंदोलन के समर्थन में नागेपुर में प्रदर्शन, नए कृषि कानून रद्द करने की मांग

जानकारी के अनुसार अभी तक विभाग के पास मात्र 10 एकड़ ही भूमि उपलब्ध हो सकी है. जल्दी भूमि अधिग्रहण के दबाव को देखते हुए जिला प्रशासन से भारतीय अंतरदेशीय जलमार्ग प्राधिकरण के अधिकारी द्वारा भूस्वामी से कई बार वार्ता की गई पर नतीजा हर बार शून्य ही आया. भूमि अधिग्रहण में आ रही अड़चन से पीएम के परियोजना पर असर पड़ रहा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें