लाइट एंड साउंड शो के साथ अब 11 भाषाओं में महात्मा बुद्ध की जीवन गाथा

Smart News Team, Last updated: 04/12/2020 10:57 PM IST
  • पर्यटन विभाग के आंकड़ों के अनुसार सबसे ज़्यादा संख्या थाईलैैंड, बर्मा, जापान, कंबोडिया, भूटान, श्रीलंका, वियतनाम, लाओस और म्यांमार आदि देशों के सैलानियों की होती है. सारनाथ स्थित महात्मा बुद्ध की प्रथम उपदेश स्थली में अब लाइट एंड साउंड शो के अलावा महात्मा बुद्ध की जीवनी को 11 भाषाओं में सुनाया जाएगा.
सारनाथ में अब लाइट एंड साउंड शो के अलावा महात्मा बुद्ध की जीवनी को 11 भाषाओं में सुनाया जाएगा

वाराणसी. सारनाथ स्थित महात्मा बुद्ध की प्रथम उपदेश स्थली में उनकी जीवन गाथा सुनने के लिए देशी व विदेशी बौद्ध धर्मावलंबियों व पर्यटकों के लिए भाषागत दिक्कतों को देखते हुए सहूलियत की जा रही है.अब लाइट एंड साउंड शो के अलावा महात्मा बुद्ध की जीवनी को 11 भाषाओं में सुनाया जाएगा.हाल ही में शुरू किए गए गई लाइट एंड साउंड शो में इसकी व्यवस्था की जाएगी. इसके लिए पर्यटन विभाग ने कार्यदायी एजेंसी राजकीय निर्माण निगम की विद्युत इकाई के प्रोजेक्ट मैनेजर को पत्र लिखा है.इसके अलावा इस संबंध में पर्यटन महानिदेशालय को भी प्रस्ताव भेजा जा चुका है.

बनारस आने वाले विदेशी सैलानियों में पर्यटन विभाग के आंकड़ों के अनुसार सबसे ज़्यादा संख्या थाईलैैंड, बर्मा, जापान, कंबोडिया, भूटान, श्रीलंका, वियतनाम, लाओस और म्यांमार आदि देशों के सैलानियों की होती है.जिसमें से काफी संख्या सारनाथ पहुंचती है. 9 नवम्बर को पीएम मोदी ने काशी, सारनाथ और बुद्ध के जीवन पर आधारित बनारस के पहले लाइट एंड साउंड शो का वर्चुअल लोकार्पण किया था. इसके अलावा 30 नवंबर देव दीपावली को बनारस आने पर पीएम इसे देखने भी गए थे. इसके बाद दूसरे दिन शो देखने तय संख्या से तीन गुना सैलानी सारनाथ पहुंचे थे. लाइट एंड साउंड शो देखने के लिए अभी देसी सैलानी आ रहे हैैं, लेकिन कोरोना काल खत्म होने या वैक्सीन आने के साथ विदेशी पर्यटक भी आएंगे.

ऑनलाइन काउंसलिंग हो तभी भर सकेगी संपूर्णानंद विश्वविद्यालय की सीटें

इसे देखते हुए अभी से प्रबंध किया जा रहा है ताकि बुद्ध को देखने-सुनने आनेे वाले सैलानियों को भाषागत दिक्कत न आए. इसे देखते हुए पर्यटन विभाग ने विभिन्न देशों से आने वाले बौद्ध धर्मावलंबियों को आकर्षित करने के लिहाज से तैयारी शुरू कर दी है. फिलहाल अंग्रेजी समेत इन देशों की भाषाओं में आवाज रिकार्ड की जाएगी. अन्य स्मार्ट आटो लैैंग्वेज ट्रांसलेटर ईयर फोन आदि विकल्पों पर विचार किया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें