आज मंगल का वृश्चिक राशि में प्रवेश, ये चार राशि वाले होंगे मालामाल

Pallawi Kumari, Last updated: Sun, 5th Dec 2021, 10:18 AM IST
  • ग्रहों के राजा मंगल आज वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे और 4 जनवरी 2022 तक इसी राशि में मौजूद रहेंगे. इससे कुछ राशि वाले लोगों को खूब फायदा मिलने वाला है. आइये जानते हैं मंगल का वृश्चिक राशि में प्रवेश से कौन से राशि वालों को फायदा पहुंच सकता है.
मंगल राशि परिवर्तन

आज 5 दिसंबर को ग्रहों के राजा 'लाल ग्रह' यानी मंगल वृश्चिक राशि में गोचर करेंगे. मंगल का राशि परिवर्तन कुछ लोगों के खूब लाभकारी सिद्ध होगा. आज 5 दिसंबर को वृश्चिक और मेष राशि के स्वामी ग्रह मंगल अपनी ही स्वराशि वृष्चिक में प्रवेश करेंगे और 4 जनवरी 2022 तक इसी राशि में रहेंगे. इस कुछ राशि वालों की मुश्किलें बढ़ सकती है, लेकिन इन चार राशि वाले लोगों का जबरदस्त भाग्योदय होगा. इस दौरान सैलेरी वृद्धि, कारोबार में बृद्धि, व्यापार में मुनाफा और धन मिलने के आसार बन रहे हैं. आइये जानते हैं मंगल का वृश्चिक राशि में गोचर से किन चार राशि वालों को फायदा पहुंचने वाला है.

मिथुन राशि- मिथुन राशि वाले जातकों के लिए ये गोचर लाभदायक साबित होगा. इस दौरान सैलरी में बढ़ोतरी, माना सम्मान और परीक्षाओं में सफलता के आसार बन रहे हैं. इतना ही नहीं इस दौरान इन राशि वाले लोगों को हर काम में भाग्य का पूरा साथ मिलेगा.

Viral Video: कूकर को जुगाड़ से बना डाला कॉफी मेकर, डिमांड में है अकंल की कॉफी

तुला राशि- इस राशि के लिए मंगल दूसरे और दसवें भाव का स्वामी है. राशि परिवर्तन होने से धन, परिवार और वाणी के दूसरे भाव में गोचर कर रहे हैं. इसलिए मंगल का वृष्चिक राशि में यह गोचर तुला राशियों के लिए शुभ संकेत है. हालांकि गोचक के दौरान आप क्रोध पर नियंत्रण रखें और नकारात्क सोच न रखें. मंगल के वृश्चिक राशि में गोचर से आपको 4 जनवरी तक खूब फायदा पहुंचने वाला है.

मकर राशि- मकर राशि वाले जातकों के लिए भी ये गोचर लाभदायक है. इन राशि वाले लोगों को करियर में तरक्की, नौकरी में प्रमोशन और नए व्यापार के रास्ते खुलेंगे. साथ ही धन निवेश करने की योजना बन रही है. लेकिन किसी भी बड़े निवेश को सावधानी से निवेश करें, जिससे भविष्य में आपको उसका लाभ मिल सके.

मीन राशि- इस राशि पर भी मंगल की कृपा बनेगी. 5 दिसंबर को मंगल राशि परिवर्तन के प्रभाव से आपको सभी नए काम करने पर उसमें लाभ और सफलता प्राप्त होगी. साथ ही आर्थिक स्थिति में सुधार और कार्यस्थल में पदोन्नति की स्थिति बन रही है.

सूर्यग्रहण और खरमास के बाद भी व्रत-त्योहार से भरा है दिसंबर का महीना, देखें लिस्ट

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें