वाराणसी:रेलवे कर्मचारी यूनियन मान्यता चुनाव को मिली हरी झंडी, लंबे समय का इंतजार

Smart News Team, Last updated: Mon, 26th Oct 2020, 4:49 PM IST
  • रेलवे बोर्ड द्वारा निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि पांच नवंबर तक सभी मंडलों को मतदाता सूची प्रकाशित कर ली जाए. नवम्बर माह को प्रकाशित होने वाली सूची में सितंबर 2020 तक भर्ती रेलकर्मी भी यूनियन के चुनाव में मतदान करने के लिए शामिल होंगे.
रेलवे में कर्मचारी यूनियन मान्यता के चुनाव का ऐलान कर दिया गया है

वाराणसी. काफी सालों से प्रतीक्षारत रेलवे में कर्मचारी यूनियन मान्यता के चुनाव का ऐलान कर दिया गया है. रेलवे बोर्ड द्वारा निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि पांच नवंबर तक सभी मंडलों को मतदाता सूची प्रकाशित कर ली जाए. नवम्बर माह को प्रकाशित होने वाली सूची में सितंबर 2020 तक भर्ती रेलकर्मी भी यूनियन के चुनाव में मतदान करने के लिए शामिल होंगे. यह चुनाव इसी साल दिसंबर के पहले सप्ताह में कराये जा सकते हैं.

आपको बता दें कि वर्ष 2018 के बाद कार्यकाल में विस्तार कर दिया गया था तो इस हिसाब से काफी समय बाद रेलवे में यूनियन मान्यता चुनाव को मंजूरी मिल रही है. पूर्वोत्तर रेलवे व उत्तर रेलवे में चुनावी मैदान में उतरने के लिए संगठनों एआइआरएफ और एनएफआइआर ने अपनी कमर कस ली है और पूरी तरह तैयारी में जुट गयी हैं. वर्तमान में मान्यता प्राप्त यूनियन दोबारा अपने प्रतिनिधियों को तलाशने लग गयी हैं.

वाराणसी: पीएम स्वनिधि योजना से लोन लेने वाले वेंडरो से वीडियो चैट करेंगे PM मोदी

एनआरएमयू के मंडल अध्यक्ष राजेश कुमार सिंह ने बताया कि सितंबर 2020 तक रेलवे में भर्ती नियमित कर्मचारी मतदान प्रक्रिया में हिस्सा ले सकेंगे. जानकारी के अनुसार चुनाव में भाग लेने वाले मतदाताओं की सूची को अंतिम रूप देने संबंधी आदेश के साथ रेलवे बोर्ड ने निर्देश भी जारी कर दिए हैं. रेलवे फेडरेशनों का कहना है कि चार और पांच दिसंबर को झंडे को मान्यता देने के लिए बैलेट द्वारा गुप्त मतदान कराये जाएंगे. लगभग डेढ़ वर्ष से तमाम यूनियनें इस चुनाव का इंतजार रही हैं. फिलहाल अब वह घड़ी आ गयी है और रेलवे बोर्ड ने सभी रेल मंडलों को आदेश कर दिया है कि वे पांच नवंबर तक मतदाता सूची का प्रकाशन कर दें ताकि जल्द चुनाव प्रक्रिया कराई जा सके.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें