दोनों रोल ऑन - रोल ऑफ जहाज का संचालन करेगा पर्यटन विभाग,यह है ख़ासियत

Smart News Team, Last updated: 08/12/2020 09:01 PM IST
  • रोल ऑन - रोल ऑफ जहाज अत्याधुनिक हैं इनमें पर्यटकों के बैठने के साथ वाहन पार्किंग व्यवस्था है, दोनों रो-रो यान में 200 पर्यटकों के बैठने की व्यवस्था है. अंदर हाल में पांच बेड हैं जो पर्यटकों के आराम के लिए बनाए गए हैं.
पर्यटन को गति देने के लिए काशी आए दोनों रोल ऑन - रोल ऑफ अत्याधुनिक जहाज

वाराणसी. पर्यटन को गति देने के लिए काशी आए दोनों रोल ऑन - रोल ऑफ अत्याधुनिक जहाज विवेकानंद और सैम मानेकाशा क्रूज के संचालन को लेकर स्थिति अब साफ हो गयी है. शासन से मांगे गए निर्देशों के अनुसार पर्यटन विभाग इन जहाजों को संचालित करेगा. शासन ने साफ किया है, कि पर्यटन विभाग चाहे तो पीपीपी मोड पर भी संचालन करा सकता है. गंगा में पहले से ही एक जहाज का संचालन किया जा रहा है. इन जहाजों के गंगा में उतरने के बाद काशी में पर्यटन को और बढ़ावा मिलेगा. इन दोनों रो-रो जहाजों को पहले बनारस से चुनार फिर प्रयागराज तक चलाया जाएगा.

बता दें कि तीन माह से भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण के रो-रो यान विवेकानंद और सैम मानेकाशा क्रूज रामनगर-राल्हूपुर में खड़े है. जहाज अत्याधुनिक हैं इनमें पर्यटकों के बैठने के साथ वाहन पार्किंग व्यवस्था है, दोनों रो-रो यान में 200 पर्यटकों के बैठने की व्यवस्था है. अंदर हाल में पांच बेड हैं जो पर्यटकों के आराम के लिए बनाए गए हैं. वाशरूम व शौचालय की भी सुविधा है.पार्किंग व यात्रियों के बैठने की जगह को जिला प्रशासन ने पार्टी या सांस्कृतिक कार्यक्रम के रूप में इस्तेमाल करने की भी योजना बनाई है. 30 नवंबर को वाराणसी आए पीएम द्वारा दोनों रो-रो यान के लोकार्पण की तैयारी थी पर पीएमओ से अनुमति नहीं मिलने पर ऐसा नहीं हो सका. माना जा रहा कि पीएम के अगले दौरे में इनका लोकार्पण कराया जा सकता है.

वाराणसी: 7 मीटर से अधिक चौड़ी 14 सड़कों की मरम्मत कराएगा लोक निर्माण विभाग

मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने बताया कि गंगा में रो-रो यान संचालित करने को लेकर असंमजस की स्थिति थी. शासन से निर्देश मांगे तो शासन ने साफ किया है कि संचालन पर्यटन विभाग करेगा. फिलहाल पर्यटन विभाग को संचालन की योजना बनाने को कहा गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें