वाराणसी : यूपी बोर्ड परीक्षा बदले मानकों से दोबारा हो रही केंद्र गठन की समीक्षा

Smart News Team, Last updated: Mon, 25th Jan 2021, 3:07 PM IST
  • उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने बोर्ड परीक्षा 2021 के लिए परीक्षा केंद्रों गठन की रूपरेखा परिवर्तित कर दी है. पहले जहां एक परीक्षा केंद्र पर 250 से 500 परीक्षार्थी आवंटित किए जाने की रूपरेखा तय की गई थी. अब रूपरेखा को परिवर्तित कर बोर्ड ने नए सिरे से परीक्षा केंद्रों का गठन किया जाएगा.
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद

वाराणसी : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने साल 2021 की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा अप्रैल माह में आयोजित करने की तैयारी की है. इसके लिए बोर्ड ने आगामी 3 फरवरी से 21 फरवरी के मध्य प्रयोगात्मक परीक्षाएं कराने की तिथि अभी घोषित कर दी हैं. किंतु अब तक बोर्ड परीक्षा केंद्रों के गठन को लेकर असमंजस की स्थिति में है. पहले बोर्ड ने एक परीक्षा केंद्र पर 250 से लेकर 500 परीक्षार्थी सम्मिलित कराते हुए जिलों से रिपोर्ट मांगी थी. प्रदेशभर के सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों की ओर से बोर्ड को रिपोर्ट भी प्रेषित कर दी गई थी. 

लेकिन अब कोविड-19 के संक्रमण में आई कमी को देखते हुए उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद ने एक बार फिर परीक्षा केंद्र के गठन की रूपरेखा परिवर्तित की है. अब बोर्ड की ओर से जनपदों को एक परीक्षा केंद्र पर 500 से लेकर 1200 परीक्षार्थी शामिल करने संबंधी रिपोर्ट मांगी गई है. बता दें कि साल 2000 की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा में वाराणसी जनपद के 1,01,000 परीक्षार्थी परीक्षा में सम्मिलित होंगे. 

हस्तशिल्पों ने की उत्पादों की बिक्री को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म तैयार करने की मांग

पिछले साल बोर्ड की परीक्षा में 1,02,308 परीक्षार्थियों पर जिले भर में 149 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे. इस संबंध में वाराणसी के जिला विद्यालय निरीक्षक बी पी सिंह ने बताया कि इस बार परीक्षा केंद्रों का निर्धारण ऑनलाइन सीधे बोर्ड के मुख्यालय से होना है. परिवर्तित की गई रूपरेखा के आधार पर नए सिरे से परीक्षा केंद्र गठन के लिए विद्यालयों का भौतिक सत्यापन किया जा रहा है. शीघ्र ही रिपोर्ट बोर्ड को प्रेषित कर दी जाएगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें