यूपी बोर्ड मनाएगा शताब्दी वर्ष,पोर्टल पर जुड़ेंगे ख्याति प्राप्त पूर्व छात्र

Smart News Team, Last updated: 12/12/2020 03:51 PM IST
  • सभी माध्यमिक विद्यालयों के प्रधानाचार्यों से हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा उत्तीर्ण कर देश-विदेश में विभिन्न पद पर तैनात कर्मचारियों की जानकारी माँगी गयी है.
यूपी बोर्ड मनाने जा रहा है अपनी स्थापना का शताब्दी वर्ष

वाराणसी. यूपी बोर्ड अपनी स्थापना का शताब्दी वर्ष मनाने जा रहा है इस सिलिब्रेशन में देश-विदेश में विभिन्न प्रमुख पदों पर तैनात व शिक्षा, चिकित्सा, न्यायिक, राजनीति, प्रशासनिक, सामाजिक, साहित्य, कला, खेल व संस्कृति सहित तमाम क्षेत्रों में मौजूद विद्यार्थियों की जानकारी कर मिशन गौरव पोर्टल के माध्यम से जोड़ा जाएगा. लेकिन इसकी जानकारी बोर्ड को भी नहीं है. इसके लिए सभी विद्यालयों के प्रधानाचार्यों से हाईस्कूल व इंटर की परीक्षा उत्तीर्ण कर देश-विदेश में विभिन्न पद पर तैनात कर्मचारियों की जानकारी माँगी गयी है.

वर्ष 1921 में उतर प्रदेश में यूपी बोर्ड यानी माध्यमिक बोर्ड का गठन किया गया था. बोर्ड द्वारा यूपी में वर्ष 1923 में पहली बार हाईस्कूल व इंटर की बोर्ड से परीक्षा हुई. उस समय पूरे प्रदेश में 5655 हाईस्कूल व महज 89 परीक्षार्थी इंटर में शामिल हुए थे।अगले वर्ष बोर्ड के गठन के सौ वर्ष पूरे हो रहे हैं. इसे देखते हुए बोर्ड ने अप्रैल 2021 से मार्च 2022 तक शताब्दी वर्ष समारोह मनाने का फैसला किया है. शताब्दी वर्ष मनाने में इन सौ वर्षों में बोर्ड से निकल विभिन्न क्षेत्रों में ख्याति प्राप्त विद्यार्थियों की जानकारी मांगी गई है.

वाराणसी: रिंगरोड पर देर रात कार ने आटो को मारी टक्कर, 7 लोग घायल, 3 गंभीर

इस संबंध में सभी क्षेत्रीय कार्यालयों, संयुक्त शिक्षा निदेशकों, जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश भी जारी किया जा चुका है. ऐसे व्यक्तियों को पोर्टल पर पंजीकरण कराने का अनुरोध किया गया है. साथ ही बोर्ड ने प्रधानाचार्यों से संकलित क्षेत्रवार, वर्षवार विद्यार्थियों की सूची भी 31 दिसंबर तक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है.इस बारे में डीआइओएस डा. वीपी सिंह ने बताया कि जनपद के सभी विद्यालयों को आवश्यक प्रपत्र भेजकर ख्याति प्राप्त पूर्व छात्रों को पोर्टल पर जोडऩे का निर्देश दे दिया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें