कोरोना काल: कूरियर से गंगा पहुंच रही हैं अस्थियां, ऑनलाइन दक्षिणा दे रहे जजमान

Smart News Team, Last updated: Mon, 31st Aug 2020, 7:03 PM IST
  • कोरोना संक्रमण के फैलाव के बीच वाराणसी में अस्थियां अब कूरियर से भेजी जा रही हैं. इतना ही नहीं, पिंडदान भी ऑनलाइन कराया जा रहा है.
कोरोना काल में कोरियर से गंगा पहुंच रही हैं अस्थियां, ऑनलाइन दक्षिणा दे रहे जजमान

वाराणसी. दुनियाभर में मशहूर धार्मिक नगरी काशी की गंगा में लोग अस्थियां विसर्जित करने और पिंडदान कराने काफी संख्या में आते हैं. ऐसे में कोरोना काल को देखते हुए आजकल ये सभी कार्य कोरियर और डिजिटल माध्यम से कराए जा रहे हैं. यानी लोग अस्थियों को कूरियर और पिंडदान ऑनलाइन कर रहे हैं. यहां तक की जजमान पंडित जी को दक्षिणा भी ऑनलाइन ही दे हे हैं.

त्रिचूर के रहने वाले एसएन स्वामी की पिछले सप्ताह मौत हो गई. उनकी अंतिम इच्छा थी कि अस्थियों को काशी जाकर गंगा में प्रवाहित की जाए. 

स्मार्ट सिटी रैकिंग सूची जारी, देशभर में 7वें स्थान पर पहुंचा वाराणसी

कोरोना संक्रमण को देखते हुए परिजन खुद तो नहीं आ पाए लेकिन पुरोहित को कूरियर से अस्थियां भेजकर दशाश्वमेध घाट पर प्रवाहित कराई गईं. कूरियर के साथ एक सादे कागज पर व्यक्ति का नाम, पूर्वजों का नाम और गोत्र लिखकर भेज दिया गया.

वहीं चेन्नई के रहने वाले सोमसुंदरम की 3 साल पहले मौत हो गई थी. परिजनों को बिहार के गया में पिंडदान कराना था लेकिन कोरोना की वजह से नहीं पहुंच पाए. ऐसे में उन्होंने बनारस में अपने टूर ऑपरेटर को इसकी जिम्मेदारी दे दी. गया में विधानपूर्वक पिंडदान हुआ और वीडियो को परिजनों को भेज दिया गया. साथ ही वीडियो कॉल पर ही परिजनों ने संकल्प भी ले लिया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें